सरेराह पीटने वालों में पाँच बने पुलिस के मेहमान

 

 

डूण्डा सिवनी थाने के पास घटी घटना में दो दिन बाद पुलिस ने की कार्यवाही!

(अखिलेश दुबे)

सिवनी (साई)। कथित तौर पर गौमाँस ले जाने के शक में पिटाई का एक वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस ने आनन फानन में कार्यवाही करते हुए पाँच लोगों को गिरफ्तार किया है। इस मामले में छटवें आरोपी की पुलिस के द्वारा सरगर्मी से तलाश की जा रही है। वीडियो वायरल होते ही नेशनल मीडिया में यह मामला जमकर उछला।

इस मामले में पत्रकारों से रूबरू जिला पुलिस अधीक्षक ललित शाक्यवार ने कहा कि 22 मई को उन लोगों के द्वारा जिन्हें पीटा गया था के द्वारा की गयी शिकायत के उपरांत घायलों का मुलाहजा कराया जाकर मामला कायम किया गया था। उन्होंने इस बात से साफ तौर पर इंकार किया कि पीड़ितों के द्वारा पुलिस को इस घटना की पूरी जानकारी दी गयी थी।

पुलिस अधीक्षक का कहना था कि पुलिस प्रशासन अगले दिन 23 मई को लोक सभा चुनावों की मतगणना में व्यस्त रहा। इसके बाद 24 मई को घटना के मुख्य आरोपी शुभम सिंह बघेल के द्वारा अपने सोशल मीडिया के फेसबुक एकाउंट पर मारपीट के इस वीडियो को डाले जाने के बाद पुलिस को वास्तविक घटना की जानकारी मिली।

पुलिस अधीक्षक के अनुसार बुधवार 22 मई को हुई मारपीट की घटना में घायल हुए दिलीप (24) पिता हीरालाल मालवीय, अंजुम उर्फ समा (33) पति मकसूद अंसारी निवासी विवेकानंद वार्ड एवं तौशीफ (20) पिता रियाज खान निवासी हड्डी गोदाम के विरूद्ध मध्य प्रदेश गौवंश वध प्रतिषेध अधिनियम की धारा 4, 5/9 के तहत प्रकरण दर्ज कर माननीय न्यायालय में 22 मई को ही पेश किया गया था जहाँ माननीय न्यायालय ने तीनों आरोपियों को जेल भेज दिया था।

उन्होंने बताया कि इस मामले में दिलीप की बहन के द्वारा इस मामले में नामजद शिकायत किये जाने पर पुलिस के द्वारा इस मामले में शुभम सिंह बघेल (25) पिता संजय बघेल निवासी कबीर वार्ड, योगेश (19) पिता दिलीप उईके निवासी बोरदई, दीपेश उर्फ दिलीप (31) पिता शिव कुमार नामदेव निवासी शुक्रवारी, रोहित उर्फ शुभम (22) पिता ज्ञान चंद यादव निवासी कबीर वार्ड, श्याम लाल (22) पिता कुँवर लाल डेहरिया निवासी मानेगाँव को धारा 341, 294, 323, 147, 148, 149, 327, 354 के साथ ही आरोपी शुभम की टाटा मांजा कार से बिना लाईसेंस वाली एयर गन बरामद होने के कारण आर्म्स एक्ट का मामला भी दर्ज किया गया है।

इधर, डूण्डा सिवनी थाना प्रभारी गणपत सिंह उईके ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया को बताया कि इस मामले में एक अन्य आरोपी कृष्णा की तलाश भी पुलिस के द्वारा सरगर्मी से की जा रही है।

सोशल मीडिया में वीडियो वायरल होने के बाद यह मामला राजधानी दिल्ली सहित अनेक शहरों में मीडिया की सुर्खियों आ गया। जम्मू काश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती, उमर अब्दुल्ला, कवि कुमार विश्वास सहित अनेक बड़ी हस्तियों के द्वारा इस वीडियो के जरिये अपने – अपने संदेश ट्वीट किये गये हैं।

नेशनल चैनल्स में शनिवार 25 मई को दिन भर सिवनी के इस वीडियो को सुर्खियों में दिखाया जाता रहा। नामी गिरामी अखबारों की वेब साईट्स पर भी यह मामला सुर्खियों में बना रहा। इस मामले को देखते हुए सिवनी में पुलिस बल को एलर्ट मोड पर रखे जाने की बात पुलिस सूत्रों ने कही है। उप पुलिस महानिरीक्षक ने भी दोपहर, डूण्डा सिवनी थाने पहुँचकर इस मामले की जानकारी ली।