बच्चों के भविष्य को देखते हुए पिता ने छोड़ी शराब

 

(अपराध ब्यूरो)

सिवनी (साई)। कोतवाली थाना क्षेत्र स्थित परिवार परामर्श केन्द्र में पाँच प्रकरण रखे गये। इनमें से दो मामलों में सुलह करवा दी गयी।

परामर्श केन्द्र प्रभारी एसआई सविता कुबरे के निर्देशन में एएसआई ज्योति चौरसिया ने बताया कि एक मामले के आवेदिका और अनावेदक पलारी के रहने वाले हैं। उनकी शादी के दो साल हो गये हैं। पत्नि गर्भवती है और पति शराब पीकर मारपीट करता है, अनाप – शनाप बात करता है। दोनों को समझाया गया और कहा गया कि राम, लक्ष्मण, भरत जैसे उनको प्यार से रखो, पालन पोषण अच्छा करें। इस पर पति ने निश्चय किया कि बच्चों के भविष्य को देखते हुआ अब वह शराब को हाथ नहीं लगायेगा।

एक अन्य प्रकरण में आवेदक और अनावेदिका सिवनी की रहने वाली है। उनकी शादी के तीन साल हुए हैं जिससे एक बच्चा है। पति – पत्नि के ऊपर उल्टा सीधा आरोप लगाता है। पति के द्वारा पत्नि को किसी भी केस में फंसा देने की बात कही जाती है। इस मामले में पत्नि का कहना है कि पति दूसरी औरत से बात करता है। पत्नि शक करती है, इसको लेकर दोनों में विवाद होता है। ऐसी स्थिति में दोनों को समझाईश दी गयी जिसके बाद वे साथ रहने के लिये तैयार हो गये। इस दौरान काउंसलर छिद्दीलाल श्रीवास, मीना उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *