बर्न यूनिट का एसी है बंद!

 

 

नये निर्माण की बजाय पुराने को कराया जाये दुरूस्त

(ब्यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। जिलाधिकारी प्रवीण सिंह भले ही जिला अस्पताल की व्यवस्थाएं सुधारने के लिये एड़ी चोटी एक कर रहे हों पर जिला अस्पताल प्रशासन के कानों में जूं भी नहीं रेंग पा रही है। आलम यह है कि जिला अस्पताल में महिलाओं के लिये बने बर्न यूनिट में पीडित महिलाएं गर्मी में परेशान हो रहीं हैं।

यह बात बीते दिवस सहारा कंपनी के अभिकर्त्ता बण्डोल निवासी मुकेश सराठे (40) को झुलसी हुई अवस्था में जिला अस्पताल ले जाया गया था तब उन्हें मेल मेडिकल वार्ड में भर्त्ती कराने के साथ ही सामने आयी। बताया जाता है कि जब मुकेश को बर्न वार्ड में भर्त्ती कराने की बात लोगों ने कही तो अस्पताल प्रशासन के द्वारा रहस्योदघाटन करते हुए बताया गया कि अस्पताल में महिलाओं के लिये ही बर्न वार्ड है।

बताया जाता है कि इस दौरान लोगों को यह भी बताया गया कि अस्पताल के महिला बर्न वार्ड में महज़ चार पलंग ही हैं और उस समय चारों पलंग पर कोई न कोई मरीज़ भर्त्ती था। लोगों ने जब महिला बर्न वार्ड जाकर जायज़ा लिया तो पता चला कि बर्न वार्ड का एसी बंद था और वहाँ चल रहा कूलर भी पानी के अभाव में गर्म हवाएं ही फेंक रहा था।

शहर में व्याप्त चर्चाओं के अनुसार वर्तमान में जिला अस्पताल प्रशासन के द्वारा लगभग ढाई करोड़ रूपये की लागत से जिला अस्पताल का कायाकल्प करने की तैयारी की जा रही है, जबकि अस्पताल में वार्ड ब्वाय और सफाई कर्मियों की कमी है। इस ओर किसी का ध्यान नहीं जा रहा है, सभी के द्वारा नये निर्माण में ही रूचि ली जा रही है।

चर्चाओं के अनुसार जिला अस्पताल में छः बिस्तर वाले आईसीसीयू और चार बिस्तर वाले महिला बर्न यूनिट में एयर कण्डीशनर को ठीक कराये जाने के साथ ही यहाँ चिकित्सकों की चौबीसों घण्टे तैनाती हो इस बारे में प्रयास किये जाने चाहिये। चर्चाएं तो यहाँ तक भी हैं कि नये निर्माण की बजाय पुराने (जो वास्तव में जरूरी हो) पर ही धनाराशि खर्च की जाकर उसे ठीक कराया जाये।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *