बादलों ने दी राहत, पारा एक डिग्री आया नीचे

 

 

शाम को चली धूल भरी आँधी

(महेश रावलानी)

सिवनी (साई)। ब्रहस्पतिवार को आसमान पर बादलों की लुकाछिपी जारी रही। बादलों के कारण सूर्य की तपन का अहसास कम हुआ पर हवाओं में गर्मी की तल्खी बरकरार रही।

मौसम विभाग के सूत्रों ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया को बताया कि वर्तमान में राजस्थान के पश्चिमी क्षेत्र से पूर्वी मध्य प्रदेश तक 0.9 किलो मीटर की ऊँचाई पर एक द्रोणिका लाईन (ट्रफ) बनी हुई है। इसके अतिरिक्त उत्तर पूर्वी राजस्थान पर एक ऊपरी हवा का चक्रवात बना हुआ है।

सूत्रों ने बताया कि इन दोनों सिस्टम को वातावरण से पर्याप्त नमी नहीं मिल पा रही है जिसके कारण गर्मी के तेवर प्रदेश में तल्ख बने हुए हैं। इसके अलावा हवा का रुख भी लगातार पश्चिमी बना रहने से तापमान में इज़ाफा हो रहा है। नमी की मात्रा कम होने के कारण स्थान – स्थान पर धूल भरी हवा चल रही है।

सूत्रों के मुताबिक एक पश्चिमी विक्षोभ उत्तर भारत क्षेत्र में पहुँच गया है। इसके प्रभाव से शुक्रवार से सिवनी सहित प्रदेश के कई स्थानों पर मौसम का मिजाज़ बदल सकता है, इससे गरज चमक के साथ कहीं – कहीं हल्की बौछारें भी पड़ सकती हैं।

बुधवार को जहाँ अधिकतम तापमान 41 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था, वह ब्रहस्पतिवार को एक डिग्री नीचे उतरकर 40 डिग्री सेल्सियस पर आ गया। ब्रहस्पतिवार को शाम के समय हल्की बूंदाबांदी भी हुई। रात लगभग दस बजे तेज हवाओं विशेषकर धूल भरी आँधी के कारण लोग परेशान हो गये।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *