सबको पसंद है, लेकिन घातक है बर्फ का गोला

 

 

(हेल्थ ब्यूरो)

सिवनी (साई)। गर्मियों में आईसक्रीम और बर्फ के गोले सभी को आकर्षित करते हैं। लेकिन, क्या आप यह भी विचार करते हैं कि यह बर्फ के गोले आपके बच्चों के लिये खतरनाक हैं। यह ठेले वाले स्वादिष्ट बर्फ के गोले के नाम पर कहीं आपको मीठा जहर तो नहीं बेच रहे हैं।

ठण्डी-ठण्डी और रंग – बिरंगी बर्फ और मिलावटी आईसक्रीम खाने में तो बेहद अच्छी लगती है, लेकिन इसमें मिला रंग और सेक्रीन सेहत के लिये काफी नुकसान दायक होती हैं। प्रदेश के कई शहरों में इन दिनों मिलावटी खाद्य सामग्री बिक रही है, लेकिन खाद्य प्रशासन ने अब तक किसी आईसक्रीम और बर्फ के गोले की जाँच नहीं की है।

सिवनी जिले में गन्ने का रस, आईसक्रीम और बर्फ के गोले की दुकानों में दिन भर बच्चों और बड़ों की भीड़ देखी जा सकती है। स्कूल से छुट्टी होते ही बच्चे तपती दोपहर में बर्फ, जूस और आईसक्रीम खाते नजर आते हैं, इन दुकानों में बिकने वाले खाद्य सामान की शुद्धता पर कोई ध्यान नहीं दिया जाता है और न ही साफ – सफाई नजर आती हैं। इनके अलावा ग्रामीण क्षेत्रों में भी सड़ी – गली आईसक्रीम और गंदे पानी से बनी बर्फ का इस्तेमाल किया जाता है।

क्या कहते हैं चिकित्सक : चिकित्सकों का कहना है कि बर्फ के गोले में मिलाया जाने वाला रंगीन शरबत लीवर के लिये घातक होता है। वे सलाह देते हैं कि सिर्फ ब्रांडेड आईसक्रीम ही खायें। खुले में बिकने वाले शीतल पेय खतरनाक हो सकते हैं। एक अन्य चिकित्सक का कहना है कि बहुत अधिक बर्फ के उपयोग से गले में इंफेक्शन हो जाता है। आईसक्रीम में मिलावट हो तो पेट में दर्द होने लगता है। इसलिये अपने बच्चों को ऐसे खाद्य पदार्थों से दूर ही रखना चाहिये।