उखड़ी रेल लाईन बनी शराबियों का अड्डा!

 

 

(अपराध ब्यूरो)

सिवनी (साई)। सिवनी में ब्रॉडगेज़ के नाम पर नैरोगेज़ सेवाओं को बंद करते हुए इसकी पांतों को भी उखड़वा दिया गया है। ब्रॉडगेज़ का कार्य सिवनी क्षेत्र में अत्यंत कच्छप गति से किये जाने के कारण अब ये लाईन शराबियों के लिये उनका पसंदीदा स्थान बन गया है।

सिवनी में बरघाट नाका, कटंगी नाका, नागपुर नाका और छिंदवाड़ा नाका क्षेत्र से होकर गुजरी पुरानी रेल लाईन पर शराबियों का जमघट रात के समय देखा जा सकता है। इस लंबे स्थान पर पसरे गहन अंधकार का पूरा फायदा शराबियों के द्वारा उठाया जा रहा है। इस क्षेत्र में पुलिस गश्त न होने के कारण शराबखोरों के हौसले भी बुलंदी पर दिख रहे हैं।

संबंधित क्षेत्रों के नागरिकों का कहना है कि दिन ढलते ही एक-एक करके शराबियों का इन स्थानों पर आना आरंभ हो जाता है। यही नहीं बल्कि इन शराबियों को शराब भी पैकारों के द्वारा मौके पर ही उपलब्ध करवा दी जाती है। इन स्थानों पर अंग्रेजी और देशी शराब के साथ ही साथ महुआ की कच्ची शराब भी मदिरा प्रेमियों को उपलब्ध करवायी जाती है।

रेल के पुराने ट्रैक पर रात के अंधेरे में लगभग 30 मीटर की दूरी पर विभिन्न टोलियां देखी जा सकती हैं जो बेखौफ होकर मदिरापान कर रही होती हैं। बताया जाता है कि सिवनी में इन दिनों शराब पीने के लिये अहाते न होने के कारण शराबियों के द्वारा ऐसे स्थलों का चयन किया जाता है जहाँ अंधेरा हो और आवागमन भी उस क्षेत्र में ज्यादा न रहता हो।

दिन के समय में कई लोग इस उखड़ी रेल लाईन का उपयोग एक क्षेत्र से दूसरे क्षेत्र में जाने के लिये शॉर्ट कट के रूप में करते हैं लेकिन रात होने के बाद सामान्य लोग इस ट्रैक से होकर गुजरने की बजाय लंबा रास्ता ही चुनना पसंद करते हैं। इसके पीछे वे यही कारण बताते हैं कि रात के अंधेरे में कई बार उनको शराबियों के द्वारा नाहक ही परेशान किया जाता है।

लोगों ने उखड़े हुए इस ट्रैक पर पुलिस गश्त की आवश्यकता बतायी है ताकि जरायमपेशा लोग इस क्षेत्र का दुरूपयोग करके क्षेत्रीय वासियों के लिये सिरदर्द न बन सकें।

4 thoughts on “उखड़ी रेल लाईन बनी शराबियों का अड्डा!

  1. Pingback: devops companies
  2. Pingback: 안전공원

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *