कम वजन का सिलेण्डर दे रही ओम गैस एजेंसी!

 

 

उपभोक्ता की शिकायत पर ध्यान नहीं दे रहा खाद्य विभाग!

(अखिलेश दुबे)

सिवनी (साई)। एचपी गैस के काली चौक स्थित डिस्ट्रीब्यूटर ओम गैस एजेंसी के द्वारा उपभोक्ताओं को गैस सिलेण्डर में कम गैस प्रदाय की जा रही है। उक्ताशय की शिकायत काली चौक निवासी तुलसीराम गोल्हानी के द्वारा जिला कलेक्टर को दिये जाने के डेढ़ साल बाद भी खाद्य विभाग के द्वारा इस संबंध में किसी तरह की कार्यवाही नहीं की जा रही है।

काली चौक निवासी तुलसीराम (30) पिता जगनलाल गोल्हानी ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया को बताया कि उन्हें एचपी कंपनी के सील बंद सिलेण्डर में पाँच किलो कम गैस दी गयी थी। इसकी शिकायत उनके द्वारा 28 दिसंबर 2017 को की गयी थी। इस मामले में एचपी गैस कंपनी के नागपुर के अधिकारियों के द्वारा कुछ कार्यवाही की गयी थी।

उन्होंने आगे बताया कि 14 फरवरी को उन्हें एक बार फिर सील बंद सिलेण्डर दिया गया जिसमें गैस कम थी। यह सिलेण्डर उनके निवास पर आज भी रखा हुआ है। उन्होंने बताया कि इसकी शिकायत खाद्य विभाग को किये जाने के बाद भी खाद्य विभाग के अधिकारियों के द्वारा इस मामले में हीला हवाला ही किया जा रहा है।

तुलसीराम गोल्हानी ने आरोप लगाया है कि उनके द्वारा जब इस मामले की शिकायत खाद्य विभाग के अधिकारियों से की गयी तो खाद्य विभाग के अधिकारियों के द्वारा उनसे यह कह दिया गया कि ऐसा हो जाता है, किलो दो किलो गैस कम हो जाती है। अधिकारियों ने उन्हें सलाह दी कि वे सीलबंद सिलेण्डर को खोलकर उसका उपयोग कर लें।

उन्होंने बताया कि उनके द्वारा बार – बार आग्रह किये जाने के लिये जिला आपूर्ति अधिकारी के द्वारा कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी प्रतीक कुमार तिवारी को इस मामले की जाँच के लिये 11 अप्रैल को निर्देशित किया गया था। इस पत्र में जिला कलेक्टर कार्यालय के पत्र का हवाला भी आपूर्ति अधिकारी के द्वारा दिया गया था।

तुलसीराम गोल्हानी का कहना है कि आपूर्ति विभाग के अधिकारियों के द्वारा इस तरह के मामलों में गैस एजेंसी का पक्ष लिया जा रहा है, अनुचित है। उन्होंने जिला कलेक्टर से इस मामले में ध्यानाकर्षण की अपेक्षा व्यक्त की है।

शिकायत मिली थी. इसकी जाँच करवायी जाकर प्रकरण को जिला कलेक्टर कार्यालय भेजा जा रहा है. 2017 की जाँच में क्या हुआ था, यह देखकर बताना पड़ेगा.

सनत मिश्रा,

जिला आपूर्ति अधिकारी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *