टपकती छत के नीचे पढ़ने मजबूर हैं छात्राएं!

 

(ब्यूरो कार्यालय)

धूमा (साई)। आदिवासी ब्लॉक लखनादौन के धूमा स्थित सरकारी गर्ल्स हायर सेकण्डरी स्कूल की बिल्डिंग जर्जर हो गयी है। यहाँ की कक्षाओं में छत से टपक रहे पानी के बीच छात्राओं को बैठकर पढ़ाई करने के लिये मजबूर होना पड़ रहा है।

वहीं जर्जर भवन के कारण कभी भी बड़ा हादसा होने का खतरा बना हुआ है। लगातार पानी सीपेज होने के कारण भवन के कॉलम भी कमजोर होते जा रहे हैं। कुछ स्थानों पर तो दरारें भी साफ नज़र आ रही हैं।

स्कूल में पढ़ रहीं हैं 464 छात्राएं : धूमा के इस स्कूल में 464 छात्राएं पढ़ रहीं हैं। इन छात्राओं की सुरक्षा व सुविधा को लेकर स्कूल प्रबंधन लापरवाही बरतता दिख रहा है। क्षेत्र वासियों का कहना है कि स्कूल की कक्षाओं में छत से पानी टपकने के बावजूद स्कूल प्रबंधन कक्षाएं लगवा रहा है।

ग्रामीणों का कहना है कि ऐसे में कभी भी कोई बड़ा हादसा हो सकता है। छात्राओं ने बताया कि वे मुश्किल से स्कूल तक पहुँचतीं हैं। आसपास के ग्रामीण इलाकों से जो छात्राएं आतीं हैं, वे कच्चे रास्ते से होकर नदी – नाले पार करके यहाँ तक पहुँचतीं हैं। इसके बावजूद स्कूल में सुविधाएं नहीं मिल रही हैं। कक्षा के छत से पानी टपकने के कारण उन्हें पढ़ाई करने में परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

23 साल पहले 90 लाख की लागत से बना भवन : सूत्रों के मुताबिक वर्ष 1996 में 23 साल पहले इस स्कूल भवन का निर्माण 90 लाख रूपये की लागत से करवाया गया था। बताया जाता है कि उसके बाद से आज तक स्कूल की रिपेयरिंग और रखरखाव पर ध्यान नहीं दिया गया। इस कारण स्कूल भवन की ऐसी स्थिति हो गयी है। बीते दिनों से हो रही बारिश के बाद स्कूल की सभी छतें टपक रही हैं। दीवारों पर सीलन है, ऐसे में यहाँ कक्षाएं लगाना न सिर्फ जोखिम भरा है, बल्कि इससे छात्राएं बीमार भी हो सकतीं हैं।

प्रशासन बेखबर : स्कूल प्रबंधन का कहना है कि स्कूल भवन की जर्जर स्थिति को लेकर कलेक्टर को अवगत करवाया गया था, लेकिन आज तक कोई ध्यान नहीं दिया गया। इसके अलावा स्थानीय विधायक से भी स्कूल भवन की रिपेयरिंग को लेकर आर्थिक मदद की माँग की गयी है। स्कूल प्रबंधन का कहना है कि जिला प्रशासन को इस स्कूल के रखरखाव के लिये समय रहते ध्यान देना चाहिये, ताकि किसी तरह की अनहोनी से बचा जा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *