. . . इसलिए इंदौर में जरूरी है मेट्रो ट्रेन : मुख्‍यमंत्री

 

 

 

 

(ब्‍यूरो कार्यालय)

इंदौर (साई)। इंदौर मे मेट्रो रेल की आधारशिला रखने पहुंचे राज्य के मुख्यमंत्री कमल नाथ ने कन्वेंशन सेंटर में उपस्थितों को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि केंद्रीय मंत्री रहते हुए मैंने अनुभव किया कि दिल्ली में मेट्रो चलने वाली थी उस समय यह प्रश्न था कि किस क्षेत्र को जोड़ा जाए, लेकिन फिर तय किया कि इसे शुरू कर दिया जाए फिर शहर दर शहर जोड़ते चले जाएं। यदि हम इस सोच में पड़ जाएंगे कि किस स्थान पर इसे चलाना है तो इसे शुरू किस तरह से किया जाएगा। यही बात यहां शुरू होने वाली मेट्रो रेल सेवा को लेकर भी ध्यान में रखनी होगी।

सीएम कमल नाथ ने कहा कि इंदौर की जो जनसंख्या है वह अधिक है और इसकी कैरिंग कैपेसिटी खत्म हो रही है। यदि नोएडा नहीं बना होता, गुड़गांव नहीं बना होता तो दिल्ली का क्या होता। मुंबई में थाणे को विकसित किया गया। इसी प्रकार इंदौर और राज्य में होने वाले विकास को लेना होगा। उन्होंने इस दिशा में सुनियोजित विकास करनेे पर बल दिया।

इंदौर में मेट्रो रेल प्रोजेक्ट के शिलान्यास समारोह में राज्य के मंत्री जयवर्धन सिंह, तुलसी सिलावट, सज्जन वर्मा, जीतू पटवारी आदि मौजूद थे। समारोह में सांसद शंकर लालवानी भी शामिल हुए। इस अवसर पर मंत्ती जयवर्धन सिंह ने ब्रिलियन्ट कन्वेेंशन सेंटर में कहा कि 8 साल पहले 2011 में इंदौर मेट्रो की डीपीआर तैयार की गई थी। उस समय नगरीय विकास मंत्री बाबूलाल गौर थे और केंद्रीय मंत्री कमलनाथ थे।

उस समय भी कमलनाथ ने इंदौर मेट्रो को लेकर कोशिश की थी। उन्होंने देश के अन्य शहरों में भी मेट्रो रेल स्थापित करने में महत्वपूर्ण योगदान दिया लेकिन यह तो उपरवाले का करिश्मा है कि इंदौर मेट्रो का भूमिपूजन भी तब हुआ जब राज्य के सीएम कमलनाथ हैं।

उन्होंने बताया कि मेट्रो रेल के लिए पूरे शहर को सर्कल फेस में लिया गया है। हालांकि सांवेर, देवास, महू अन्य शहरों में भी मेट्रो चलाने की मांग नेताओं ने की। उन्होंने आश्वासन दिया कि परियोजना की शुरूआत के बाद इस दिशा में प्रयास किए जाएंगे।

राज्य के मंत्री जीतू पटवारी ने कहा कि राज्य सरकार विकास के लिए हरसंभव प्रयास कर रही है। उन्होंने हुकूमचंद मिल के कर्मचारियों के हितों में आवश्यक कदम उठाने की मांग सीएम कमलनाथ से की।

इंदौर के सांसद शंकर लालवानी के कहा कि पब्लिक ट्रांसपोर्ट को बढ़ावा मिले ऐसे प्रयास शहर में होते रहे हैं। यहां मेट्रो की भी आवश्यकता है। तत्कालीन सीएम ने इसके लिए प्रयास किेए थे। उन्होंने भाजपा दवारा बीआरटीएस को लेकर किए जाने वाले कार्यों का उल्लेख किया।

मंत्री तुलसी सिलावट ने कहा कि खाद्य पदार्थों में मिलावट करने वालों को सरकार नहीं छोड़ेगी। उन्होंने मेट्रो रेल को सांवेर तक चलाने की मांग भी की।

26 thoughts on “. . . इसलिए इंदौर में जरूरी है मेट्रो ट्रेन : मुख्‍यमंत्री

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *