घरेलू एकांतवास में रह रहे लोगों पर अमिट स्याही के इस्तेमाल का चुनाव आयोग की मंजूरी

(ब्‍यूरो कार्यालय)

नई दिल्‍ली (साई)। कोरोना वायरस के लगातार देशभर से आ रहे नए मामलों के बीच सरकार यथासंभव इसे रोकने का प्रयास कर रही है। सरकार की कोशिश है कि इसे ज्यादा ना फैलने दिया जाए। इस बीच, चुनाव आयोग ने घर में क्वरंटाइन पर रह रहे गए लोगों पर अमिट स्याहीके इस्तेमाल को मंजूरी दे दी।

इस स्याही का इस्तेमाल चुनावों के दौरान किया जाता है और चुनाव आयोग के लिए इसे एकमात्र मैसूर की कंपनी बनाती है। लेकिन, अब यह राज्यों के लिए उपलब्ध होगी। सीनियर चुनाव अधिकारियों के मुताबिक, आयोग के स्वास्थ्य मंत्रालय के साथ इस बारे में बातचीत हुई है और चुनाव के दौरान किए जाने वाले मार्क से यह अलग होगा।

चुनाव आयोग के अधिकारी ने हिन्दुस्तान टाइम्स को बताया, “कर्नाटक के चीफ सेक्रेटरी की तरफ से इस स्याही के इस्तेमाल की अनुमित की मांग के बाद कर्नाटक के मुख्य निर्वाचन अधिकारी की तरफ से इस पर स्पष्टीकरण मांगी गई थी।

चुनाव आयुक्त अशोक लवासा ने कहा- राज्यों की तरफ से क्वरंटाइन किए गए लोगों पर इस अमिट स्याही के इस्तेमाल की मांग के बाद जनहित को देखते हुए यह फैसला लिया गया है। उन्होंने आगे कहा कि चुनाव आयोग ने इस बात को सुनिश्चित किया है कि चुनाव प्रक्रिया की मर्यादा बरकरार रहे।

चुनाव आयोग की तरफ से इस बारे में बुधवार को नोटिफिकेशन जारी कर सेफगार्ड्स के बारे में बताया गया। इसमें कहा गया- मंत्रालय मार्क का स्टैंडर्ड और शरीर की जगह तय कर सकती है, जिस जगह पर इस स्याही का इस्तेमाल होगा ताकि जिन राज्यों में चुनाव होना है वहां पर किसी तरह की भ्रम की स्थिति न रहे।

नोटिफिकेशन में आगे कहा गया है, “संबंधित अधिकारियों को यह निर्देश दिया जाएगा कि वे उन लोगों का रिकॉर्ड रखे जिन पर इस स्याही का इस्तेमाल होना है। इसके साथ ही, अधिकारियों को यह भी निर्देश दिया जाएगा कि वे इस बात को सुनिश्चित करे कि इस स्याही का किसी अन्य उद्देश्य के लिए इस्तेमाल न हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *