अधिक तापमान से पिघलता है वीवीपैट!

चुनाव आयोग ने जारी किया ये निर्देश

(ब्यूरो कार्यालय)

मुंगेर (साई)। अधिक तपमान से वीवीपैट के पॉवरपैक पिघल सकता है। इसको लेकर चुनाव आयोग ने मतदान के बाद वीवीपैट से पॉवरपैक निकालने का निर्देश दिया है।

दो चरणों का चुनाव समाप्त होने के बाद आयोग ने यह निर्देश जारी किया। अब अगले चरण में होनेवाले मतदान के बाद वीवीपैट का पॉवरपैक वहीं निकाल लिया जायेगा। मतगणना के दौरान उस पॉवरपैक को वीवीपैट में फिर से लगाया जायेगा, ताकि वीवीपैट में स्टोर हुई पर्चियों की गणना की जा सके।

हालांकि आयोग के पत्राचार के बाद जिला प्रशासन की टीम ने अभी से ही इसकी तैयारी शुरू कर दी है। मतदान के दौरान जो भी पीठासीन पदाधिकारी रहेंगे, वे मतदान समाप्ति के बाद पॉवरपैक को निकालेंगे। वीवीपैट से पॉवरपैक को कैसे निकाला जायेगा, इसके लिये पीठासीन पदाधिकारियों को प्रशिक्षण दिया जायेगा।

पॉवरपैक के पिघलने की संभावना : आयोग द्वारा पत्राचार कर जिला निर्वाची पदाधिकारी को आगाह किया है कि, आगे होने वाले मतदान में भीषण गर्मी पड़ने की संभावना है। अभी लोकसभा चुनाव के दूसरे चरण का मतदान समाप्त हुआ है और तपमान 30-35 डिग्री सेल्सियस है। जिले में 29 अप्रैल को मतदान होना है। मतदान के दिन 35-38 डिग्री तापमान हो सकता है। उप निर्वाचन पदाधिकारी अवधेश कुमार ने बताया की अधिक तापमान से वीवीपैट के पॉवरपैक के पिघलने की संभावना है। मतदान के बाद पॉवरपैक को बाहर निकाल लिया जायेगा। मतगणना के दौरान पॉवरपैक को लगाया जायेगा।

चुनाव में ट्रैक्टरों का नहीं होगा इस्तेमाल : पहले लोकसभा व विधानसभा चुनाव में ट्रैक्टरों का इस्तेमाल किया जाता था। ट्रैक्टर से ही मतदान कर्मियों को मतदान केन्द्रों तक पहुँचाया जाता था। लेकिन इस चुनाव में ट्रैक्टर के प्रयोग पर आयोग ने रोक लगा दी है। इसका कारण यह है कि, इस बार वीवीपैट का इस्तेमाल किया जा रहा है। ट्रैक्टर के हिचकोले से वीवीपैट में खराबी आ सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *