क्या सर्दी-खांसी में बच्चों को खिला सकते हैं केला!

हाल ही में मेरा बच्चा सर्दी-खांसी से पीड़ित था। वो कुछ नहीं खा रहा था, इसलिए मैंने उसे केला और कुछ खट्टे फल खाने को दिए। मैंने सुना है कि इस स्थिति में बच्चे को ऐसे फल नहीं देने चाहिए, इससे हालत और ज्यादा ख़राब हो सकती है, क्या ये सही है?

जानकारों का कहना है कि कई माताएं ये समझती हैं कि केला और खट्टे फल खाने से सर्दी-खांसी में बच्चे की स्थिति और अधिक खराब हो जाती है। लेकिन आपको बता दें कि ये तथ्य गलत है। कई डॉक्टर इस दौरान विटामिन सी वाले फूड खाने की सलाह देते हैं, जिससे इम्युनिटी सिस्टम मज़बूत होता है। केला भी एक ऐसा फल है जो मिनरल्स से भरपूर है और इम्युनिटी बढ़ाता है।

केले में पोटेशियम भी अधिक होता है और ये पानी की कमी को पूरा करता है। इसमें इलेक्ट्रोलाइट्स होते हैं जो शरीर में इलेक्ट्रोलाइट और तरल पदार्थ संतुलन को बनाए रखने में सहायक हैं। इसमें 105 कैलोरी होती है, जिससे आपको तुरंत ऊर्जा मिलती है।

खट्टे फलों में विटामिन सी होता है, जिससे एंटीवायरल प्रभाव पड़ता है और जल्दी स्वस्थ होने में मदद मिलती है। संतरे और नींबू जैसे फलों में एंटीऑक्सीडेंट होते हैं जिससे बॉडी से टोक्सिन बाहर निकालने में मदद मिलती है और सर्दी-खांसी जैसी समस्या से स्वाभाविक रूप के उपचार में सहायता मिलती है।

बच्चे को सर्दी-खांसी होने पर ये ज़रूरी नहीं है कि आप उसे इस तरह के ही फल किलाते रहें। वास्तव में उसे इस तरह के फल के अलावा हेल्दी डायट और दवा भी दें।

(साई फीचर्स)


नोट :ये नुस्‍के आजमाने के पहले जानकार चिकित्‍सक से एक बार मशविरा अवश्‍य कर लें।

0 Views.

Related News

(शरद खरे) सिवनी में पुलिस की कसावट के लिये पुलिस अधीक्षक तरूण नायक के द्वारा प्रयास किये जा रहे हैं।.
गंभीर अनियमितताओं के बाद भी लगातार बढ़ रहा है ठेके का समय (अय्यूब कुरैशी) सिवनी (साई)। इंदौर मूल की कामथेन.
मामला मोहगाँव-खवासा सड़क निर्माण का (अखिलेश दुबे) सिवनी (साई)। अटल बिहारी वाजपेयी के प्रधानमंत्रित्व काल की महत्वाकांक्षी स्वर्णिम चर्तुभुज सड़क.
नालियों में उतराती दिखती हैं शराब की खाली बोतलें! (ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। विधानसभा मुख्यालय केवलारी के अनेक कार्यालयों में.
धोखे से जीत गये बरघाट सीट : अजय प्रताप (ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। भाजपा के आजीवन सदस्यों के सम्मान समारोह.
(महेश रावलानी) सिवनी (साई)। बसंत के आगमन के साथ ही ठण्डी का बिदा होना आरंभ हो गया है। पिछले दिनों.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *