धराये दुर्लभ चौसिंगा हिरण के शिकारी

 

भरमार सहित तीन शिकारी गिरफ्तार, तीन फरार

(ब्यूरो कार्यालय)

केवलारी (साई)। केवलारी विकासखण्ड से सटे अहरवाड़ा के जंगलों में लंबे समय से अवैध शिकार की घटनाओं की शिकायत प्रकाश में आने के बाद वन विभाग के द्वारा दुर्लभ चौसिंगा प्रजाति के हिरण के तीन शिकारियों को पकड़ने में सफलता हासिल की गयी है। तीन शिकारी फरार बताये जा रहे हैं।

वन परिक्षेत्र अधिकारी बी.एल.पाल ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया को बताया कि जिस चौसिंगा हिरण का शिकार किया गया है वह अत्यंत ही दुर्लभ प्रजाति का हिरण है। यह बेहद ही खूबसूरत दिखने वाला प्राणी है। उन्होंने बताया कि शिकार और लकड़ी चोरी की लगातार मिल रही शिकायतों के चलते वन विभाग ने सघन गश्ती अभियान चलाया गया है।

उन्होंने बताया कि इसके पहले भी इस क्षेत्र में कुछ दिनों पूर्व एक नीलगाय का शिकार किया गया था। वन विभाग ने उन आरोपियों को धर दबोचा था जो वर्तमान में जेल में हैं। उन्होंने बताया कि सघन गश्ती अभियान के चलते ही शिकारियों को रंगे हाथों पकड़ने में सफलता हासिल हुई है।

इसके साथ ही उन्होंने आगे बताया कि रात्रि में लगभग बारह बजे बंदूक चलने की आवाज से जब जंगल दहला तब बीट गार्ड और सुरक्षा दस्ते के अन्य सदस्य गोली चलने की आवाज आने की दिशा में भागे। उन्होंने बताया कि गर्मी के मौसम में जहां पानी के स्त्रोत होते हैं वहां अक्सर ही वन्य जीव पानी पीने आते हैं।

श्री पाल ने आशंका व्यक्त की है कि पानी पीने आये हिरण को शिकारियों के द्वारा भरमार बंदूक से घायल कर उसे जिंदा ही पकड़ लिया गया। इसी बीच वन विभाग के दल के वहां पहुंचने पर शिकारियों में अफरा तफरी मच गयी। इस दौरान गश्ती दल के हाथ आधा दर्जन शिकारियों में से तीन शिकारी ही लगे, बाकी तीन फरार होने में सफल रहे।

वन परिक्षेत्र अधिकारी ने बताया कि शिकारी शेरसिंह पिता खेमकरन काकोड़िया निवासी कोहका ने अपनी लाईसेंसी भरमार बंदूक का उपयोग किया था। उनके साथ छेंद पिता सुंदर गौंड व भुन्नी लाल पिता सोहन गौंड शामिल थे। वन विभाग द्वारा शनिवार को वन प्राणी संरक्षण अधिनियम 1972 के तहत कार्यवाही कर आरोपियों को जेल भेज दिया गया।

इसके साथ ही वन परिक्षेत्र अधिकारी बी.एल.पाल ने आगे बताया कि इन शिकारियों को पकड़ने में बीट गार्ड विजय सिंह डेहरिया अहरवाड़ा बीट, ईश्वरीय उईके माल्हनवाड़ा बीट, सुरक्षा सदस्य गेंदसिंह परते शिवबालक राजपूत, मोहन झारिया, परिक्षेत्र सहायक ईन्द्रजीत परते छींदा, डी.सी.सोलंकी केवलारी सुखदेव यादव वन रक्षक केवलारी केशव सिंह शामिल थे।



8 Views.

Related News

(शरद खरे) सिवनी में पुलिस की कसावट के लिये पुलिस अधीक्षक तरूण नायक के द्वारा प्रयास किये जा रहे हैं।.
गंभीर अनियमितताओं के बाद भी लगातार बढ़ रहा है ठेके का समय (अय्यूब कुरैशी) सिवनी (साई)। इंदौर मूल की कामथेन.
मामला मोहगाँव-खवासा सड़क निर्माण का (अखिलेश दुबे) सिवनी (साई)। अटल बिहारी वाजपेयी के प्रधानमंत्रित्व काल की महत्वाकांक्षी स्वर्णिम चर्तुभुज सड़क.
नालियों में उतराती दिखती हैं शराब की खाली बोतलें! (ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। विधानसभा मुख्यालय केवलारी के अनेक कार्यालयों में.
धोखे से जीत गये बरघाट सीट : अजय प्रताप (ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। भाजपा के आजीवन सदस्यों के सम्मान समारोह.
(महेश रावलानी) सिवनी (साई)। बसंत के आगमन के साथ ही ठण्डी का बिदा होना आरंभ हो गया है। पिछले दिनों.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *