गंदे पानी से परेशान हैं नागरिक!

 

समय सीमा समाप्त होने के बाद भी पालिका की आँखों का नूर बना है ठेकेदार!

(संजीव प्रताप सिंह)

सिवनी (साई)। गर्मी के कस बल भले ही बादलों ने ढीले कर रखे हों पर पानी की खपत बढ़ती ही जा रही है। इसके बाद भी पालिका के द्वारा नवीन जलावर्धन योजना को तीन साल बाद भी पूरा नहीं करने पर जलावर्धन योजना के ठेकेदार की मश्कें नहीं कसी जा सक रही हैं।

ज्ञातव्य है कि नवीन जलावर्धन योजना का काम का पानी लोगों को नियमानुसार अप्रैल 2016 से मिलने लगना चाहिये था। विडंबना ही कही जायेगी कि जलावर्धन योजना का पानी लोगों को अप्रैल 2019 में भी नसीब नहीं हो पा रहा है। इस मामले में पालिका के द्वारा अभी भी ठेकेदार के साथ नरम रवैया ही अपनाया जा रहा है।

ठेकेदार के लोगों का कहना है कि जलावर्धन योजना के काम में आवश्यक अनुमतियां ही नगर पालिका के द्वारा उन्हें विलंब से दिये जाने के कारण इस योजना का काम तीन साल से ज्यादा समय से मंथर गति से चल रहा है। वहीं आम जनता का कहना है कि उनको इस बात से क्या सरोकार की अनुमति विलंब से मिली अथवा नहीं मिलीं, उनको तो इस योजना का लाभ मिलने से सरोकार है।

इस मामले में तत्कालीन निर्दलीय और वर्तमान भाजपा के विधायक दिनेश राय के द्वारा पालिका को दी गयी समय सीमा बीते 415 दिन (एक साल से ज्यादा) एवं जिला कलेक्टर प्रवीण सिंह के द्वारा तय की गयी समय सीमा से 49 दिन ज्यादा हो चुके हैं।

यहाँ यह उल्लेखनीय होगा कि पिछले लगभग एक पखवाड़े से लोगों के घरों में गंदा और बदबूदार पानी आ रहा है। यह पानी पीने के योग्य तो कतई नहीं माना जा सकता है। लोग हर सप्ताह अपने घरों के ओवरहेड टैंक साफ कर रहे हैं। लोगों का कहना है कि पता नहीं क्यों पालिका और प्रशासन की आँखों का नूर आज भी ठेकेदार कैसे बना हुआ है!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *