तेजपत्‍ते के हैं ढेर सारे फायदे

 

 

 

 

(ब्‍यूरो कार्यालय)

मुंबई (साई)। इस बात को हर कोई जानता है कि तेजपत्ते का इस्तेमाल भारतीय पकवानों में किया जाता है। ये खाने को स्वादिष्ट बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। मसाले के तौर पर इस्तेामल होने वाली इन पत्त‍ियों में कई औषधीय गुण पाए जाते हैं।

शहर की डॉयटीशियन पवित्रा श्रीवास्तव बताती है कि तेजपत्ते में भरपूर मात्रा में एंटी-ऑक्सीडेंट पाया जाता है। इसके अलावा इन पत्तियों में कई तरह के प्रमुख लवण जैसे कॉपर, पोटैशियम, कैल्शियम, गैगनीज, सेलेनियम और आयरन पाया जाता है। हालांकि बहुत कम लोगों को ही पता होगा कि तेजपत्ता खाने का स्वाद और खुशबू बढ़ाने के साथ ही एक बेहद फायदेमंद मसाला भी है।

जड़ी बूटी है तेज पत्ता

तेज पत्ता एक प्रकार की जड़ी बूटी है जिसका रशिया के एक वैज्ञानिक ने अच्‍छी तरह से अध्‍यन किया था। इस अध्ययन में पाया गया कि यह हमारे तनाव को दूर कर सकता है। आपको बता दें कि तेज पत्‍ते को अरोमा थैरेपी के लिये इस्‍तमाल किया जाता है। इसके साथ यह त्‍वचा की बीमारियों और सांस से संबन्‍धित समस्‍याओं को भी ठीक करने के लिये जाना जाता है। यह टेंशन को दूर करता है।

ऐसे करें इस्तेमाल

घरों में लोग तरह-तरह के रूम फ्रेशनर लेकर आते हैं। महंगे इत्र भी छिड़काते हैं, लेकिन इन सभी का काम तेज पत्ता भी कर सकता है। तेज पत्ता को एक बेहतरीन रूम प्रेशनर के गुण से भी जाना जाता है। पुराने समय में लोग तेज पत्‍ते को इस काम के लिए भी खूब इस्‍तेमाल करते थे। इसके लिए आपको सबसे पहले एक ताजा और सूखा तेजपत्ता लें। इसे एक कटोरे में रखकर घर के बाहर जलाएं। बाद में इसे घर के अंदर लाकर 15 मिनट के लिए रखें। तेजपत्ते की महक पूरे कमरे में फैल जाएगी। इससे आप रिलेक्स और रिफ्रेशिंग फील करेंगे। तेजपत्ता प्राचीन काल से बीमारियों को ठीक करने के लिए जाना जाता है। साथ ही साथ तेजपत्ता एंटीइंफ्लेमेटरी होता है। मिर्गी के मरीजों को इसके धुएं के बीच रहना चाहिए। ऐसा कहा जाता है कि ये मिर्गी के रोग को जड़ से खत्म करने की क्षमता रखता है।

कोकरोच को भगाता है दूर

अगर आप घर में कोकरोच की समस्या से परेशान है तो तेजपत्ते को जलाकर कमरे या किचन में रख दें। ये दूसरे हिट्स की तरह न होकर केमिकल फ्री है। दो दिन में ही आपके घर के सारे कोकरोच दूर भाग जाएंगे।