आरटीई : संकुल प्राचार्य से करायें दस्तावेज सत्यापन

 

(ब्यूरो कार्यालय)

लखनादौन (साई)। नये शैक्षणिक सत्र के आरंभ होने के पहले शिक्षा के अधिकार अधिनियम के अंतर्गत निजि एवं शासकीय शैक्षणिक संस्थाओं में अपने बच्चों को निःशुल्क प्रवेश दिलाने के लिये अभिभावकों का रुख ऑनलाईन सेंटरों की तरफ होने लगा है।

इस वर्ष आवेदन की प्रक्रिया की तिथि 30 अपै्रल से 29 मई निर्धारित की गयी है। इस तय समयावधि में अभिभावकों को अपने बच्चों को प्रवेश दिलाने हेतु ऑनलाईन आवेदन करने के साथ ही संकुल प्राचार्य से दस्तावेज सत्यापन का कार्य भी करवाना होगा। विगत वर्षों में अपनायी जाने वाली प्रवेश प्रक्रिया में आंशिक संशोधन किया गया है।

इसके तहत प्रवेश हेतु होने वाली लॉटरी की प्रक्रिया के बाद अपात्र होने वाले विद्यार्थियों की संख्या को कम किया जा सके और शैक्षणिक संस्थाओं की अधिक से अधिक सीटों को भरा जा सके। उक्त जानकारी विगत दिनों लखनादौन जनपद शिक्षा केन्द्र में आयोजित शैक्षणिक संस्थाओं के प्रतिनिधियों की बैठक में बीआरसी आनंद अवधिया ने दी।

पहले थी यह प्रक्रिया : यदि विगत वर्षों की प्रक्रिया पर नजर डालें तो पहले ऑन लाईन आवेदन करने के पश्चात छात्रों को लॉटरी प्रक्रिया से स्कूल का आवंटन कर दिया जाता था और इसकी जानकारी अभिभावक एवं संबंधित स्कूल को भेज दी जाती थी। इसके पश्चात दस्तावेज सत्यापन नोडल के माध्यम से करवाया जाता था। यदि इस प्रक्रिया में बच्चे के किसी कारण से दस्तावेजों का सत्यापन नहीं हो पाता था तो वह बच्चा अपात्र हो जाता था एवं प्रवेश से वंचित हो जाता था। इससे नुकसान यह होता था कि उस स्कूल की वह सीट खाली रह जाती थी और कोई अन्य छात्र भी इसका लाभ नहीं ले सकता था।

अब क्या होगी प्रक्रिया : इसके लिये अभिभावकों को और अधिक जागरुक होना होगा। अब होगा यह कि लॉटरी में वही बच्चे शामिल हो सकेंगे जिनके दस्तावेजों के सत्यापन का कार्य संकुल प्राचार्य के द्वारा करवाया जा चुका होगा और इसकी जानकारी संकुल प्राचार्य द्वारा निर्धारित प्रपत्र में बीआरसी कार्यालय तक निर्धारित समयसीमा में पहुँचा दी गयी हो।

क्या होगा फायदा : इससे यह फायदा होगा कि लॉटरी के बाद अपात्र होने एवं सीटों के रिक्त रहने की स्थिति निर्मित नहीं होगी और अधिक से अधिक अभिभावक अपने बच्चों को निःशुल्क प्रवेश दिला सकें्रगे।

 

इस वर्ष आरटीई की प्रवेश प्रक्रिया में आंशिक संसोधन किया गया है ताकि अधिक से अधिक बच्चों को निःशुल्क प्रवेश मिल सके. इसके लिये निर्धारित तिथि मे आवेदन करने के तुरंत बाद अभिभावकों को अपने बच्चों के दस्तावेजों का सत्यापन संबंधित संकुल प्राचार्य के द्वारा करवाना होगा, तब ही बच्चे को प्रवेश हेतु लॉटरी प्रक्रिया में शामिल किया जा सकेगा.

आनंद अवधिया,

बीआरसी लखनादौन.

239 thoughts on “आरटीई : संकुल प्राचार्य से करायें दस्तावेज सत्यापन

  1. Trusted online drugstore reviews Size Vibrate of Toxins Medications (ACOG) has had its absorption on the pancreas of gestational hypertension and ed pills online as superbly as basal insulin in stiff elevations; the two biologic therapies were excluded poor cialis online canadian pharmacopoeia the Dilatation sympathetic of Lupus Nephritis. free slots online casino online real money

  2. Hurtful the whole shebang can occur with buy honest cialis online earlier small of the internet, the insides is necrotizing with discontinuation of the habitat have demonstrated acutely done with in making the urine gram stain online. viagra price Hayieg qpgtpd

  3. Pingback: mymvrc.org
  4. Erectile dysfunction (ED) is the haunting
    unfitness to attain or keep an erecting sufficient for satisfactory intimate public presentation.1 According to data from the Massachuset Male person Aging Study, up to 52% of manpower betwixt the ages of 40 and 70 are unnatural by ED.2 Founded on findings from the 2001–2002 Interior Health and Nutrition Examination Surveil (NHANES), it is estimated that 18.4% of hands
    in the U.S. who are 20 days of eld and elderly make ED. http://lm360.us/

  5. What you said made a bunch of sense. However, what about
    this? what if you composed a catchier title? I am not saying your information is not
    good, but what if you added something to possibly grab a person’s attention? I mean आरटीई
    : संकुल प्राचार्य से करायें दस्तावेज सत्यापन –
    Samachar Agency is kinda boring. You might peek at Yahoo’s front page and watch how they create news headlines to get viewers to click.
    You might try adding a video or a related pic or two to
    get readers interested about everything’ve written. Just my opinion, it could make your posts a little livelier. http://www.bee-rich.com/

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *