प्राइमरी, मिडिल स्कूलों में शुरू होंगे मिनी स्पोर्ट्स

 

 

 

 

(ब्यूरो कार्यालय)

भोपाल (साई)। शासकीय और प्राइवेट स्कूलों में इस शिक्षण सत्र से खेलों को बढावा दिया जाएगा। इसके लिए एमपी बोर्ड, सीबीएसई सहित केंद्रीय विद्यालयों में तैयारियां शुरू हो गई हैं।

मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने इस शिक्षण सत्र से प्राइमरी और मिडिल लेवल पर स्पोटर्स एक्टिविटी को बढ़ावा देने के निर्देश दिए हैं। इसके मुताबिक स्कूलों में बनी सेल इस प्रकार के मिनी स्पोर्ट्स प्रोग्राम कराए जाएंगे। साथ ही छात्रों की हेल्थ सर्वे भी होंगे।

इन स्कूलों में सालभर तक दो स्तर के प्रोग्राम होंगे। एक प्रोग्राम स्कूल के एनुअल स्पोर्ट्स कैलेंडर के हिसाब से होगा। दूसरे मिनी स्पोर्ट्स प्रोग्राम होंगे। जो एक दिन से लेकर एक महीने की अवधि तक के होंगे। इसमें प्राइमरी से लेकर मिडिल क्लासेस के स्टूडेंट्स अपनी भागीदारी कर पाऐंगे। एक्सपर्ट ने बताया कि स्टूडेंट्स का रुझान सालभर होने वाली खेल गतिविधियों में बढ़ रहा है। दूसरा, सीबीएसई और केवी में भी फिजीकल एजुकेशन को विषय और कोर्स के रूप में शुरू किया गया है।

स्टूडेंट्स की फिटनेस के लिए बनेगी 2 कैटेगरी : सीबीएसई और केवी में स्टूडेंट्स की फिटनेस का पता लगाने के लिए प्राइमरी, मिडिल और सीनियर सेकेंडरी लेवल पर सर्वे किया जाएगा। यह जिम्मेदारी स्कूलों के फिटनेस कोच, स्पोर्ट्स एक्सपर्ट, सीनियर स्टूडेंट्स, क्लास टीचर और कैटेगरी हेड को दी जाएगी। इसमें हर क्लास के स्तर पर दो कैटेगरी में छात्र-छात्राओं का सर्वे के जरिए पता लगाया जाएगा कि कौन फिट है और कौन अनफिट। इसके आधार पर डाटा बनेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *