बहाई गयी पौने चार करोड़ की शराब

 

(ब्यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। आबकारी विभाग ने गुरूवार को 3 करोड़ 76 लाख रूपए बाजार मूल्य की ब्रांडेड कम्पनी की अंग्रेजी शराब और बीयर को नष्ट करने की कार्रवाई शुरु कर दी है। कार्रवाई के दौरान प्रशासन की टीम और आबकारी विभाग का अमला मौजूद है।

जिला मुख्यालय से मण्डला रोड पर स्थित आबकारी विभाग के शराब गोदाम में सिवनी, छिंदवाड़ा और बालाघाट जिले के लिये अंग्रेजी शराब एवं बीयर का भण्डारण होता है। आबकारी नीति अनुसार कम्पनी द्वारा यहाँ रखे जाने वाले शराब, बीयर के स्टॉक का उठाव ठेकेदार द्वारा 06 महीने में करना होता है। लेकिन विगत 06 माह से यहाँ स्टॉक में रखी 19 ब्रांडेड कम्पनी की सैकड़ों पेटी शराब और बीयर का उठाव न होने पर विभागीय नियम अनुसार कार्रवाई की गयी। ब्रांडेड कंपनियों की बीयर को आबकारी विभाग खुदवाए गये गड्ढे में बहा कर नष्ट कर रहा है। जबकि शराब की बोतलों पर बुलडोजर मशीन चलाई जा रही है। इस तरह पौने चार करोड़ की शराब की नष्टीकरण प्रक्रिया जारी है।

सहायक जिला आबकारी अधिकारी विजय सेन ने बताया कि यह कार्रवाई विभागीय आयुक्त ग्वालियर के निर्देश पर की जा रही है। इस कार्रवाई में जिला आबकारी अधिकारी बीआर वैद्य के निर्देशन में नष्टीकरण प्रक्रिया पूरी की जा रही है। 19 ब्रांडेड कम्पनी र शराब व बीयर का उठाव नहीं किया गया था। आबकारी विभाग के नियम अनुसार 6 महीने की समय अवधि के बाद आबकारी विभाग गोदाम में रखे स्टॉक को एक्सपायरी डेट का घोषित कर मानव जीवन के लिये खतरा समझते हुए नष्ट कर सकता है।

इसके लिये पूर्व में सम्बंधित कंपनियों को नोटिस जारी करते हुए शीघ्र उठाव के लिये सूचित भी किया गया था, लेकिन कंपनियों ने इसको उठाव करने से इंकार कर दिया। आबकारी नियम अनुसार सम्बंधित कंपनियों को दी गयी समय अवधि बीतने के बाद कार्रवाई के लिये कलेक्टर प्रवीण सिंह के निर्देशन में कार्रवाई के लिये समिति गठित की गयी।

समिति के अध्यक्ष जिला आबकारी अधिकारी बीआर वैद्य, सहायक जिला आबकारी अधिकारी विजय कुमार सेन, हसनलाल गोहिया, प्रमोद धुर्वे सहित अन्य की मौजूदगी में पेटियों में रखी बीयर की बोतलों को खोलकर वेयर हाउस मैदान में ही खोदे गये गड्ढे में बहाकर नष्ट किया जा रहा है। तो वहीं जिन कंपनियों ने खाली बोतलों की डिमांड की थी, उनसे लेबर चार्ज लेकर गहरे गड्ढे में बोतलों से शराब खाली करवाकर बोतलें कंपनी के सुपुर्द की जा रही हैं। वहीं गड्ढे में मिट्टी, पत्थर डालकर बंद कर दिया जायेगा। जबकि सैकड़ों पेटी ब्रांडेड शराब की बोतलों पर जेसीबी मशीन चलाकर बहा दिया गया।

अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई : आबकारी विभाग द्वारा बीते तीन साल में चौथी बार शराब और बीयर का नष्टीकरण बड़े स्तर पर किया गया है। इससे पहले आबकारी विभाग ने नवम्बर 2017 में 01 करोड़ 15 लाख 30 हजार रूपए बाजार मूल्य की ब्रांडेड कम्पनी की अंग्रेजी शराब और बीयर को नष्ट किया था। इससे पूर्व सितम्बर अक्टूबर 2016 में करीब 70 लाख रुपए की बीयर और शराब नष्ट की गयी थी। इसके पूर्व 21 नवम्बर 2016 को 32 लाख रूपए बाजार मूल्य की बीयर और शराब गड्ढे और जेसीबी से कुचलकर बहा दी गयी थी।

One thought on “बहाई गयी पौने चार करोड़ की शराब

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *