. . . इसलिए समय से पहले भरा गया सरदार सरोवर  : बच्‍चन

 

 

 

 

(ब्‍यूरो कार्यालय)

भोपाल (साई)। मध्यप्रदेश के गृहमंत्री बाला बच्चन ने मंगलवार को दावा किया कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का जन्मदिन कार्यक्रम आयोजित करने के लिए सरदार सरोवर बांध को तय समय से पहले ही उसके उच्चत्तम स्तर तक भर दिया गया।

बच्चन ने संवाददाताओं से कहा कि नर्मदा नियंत्रण प्राधिकरण के तय कार्यक्रम के अनुसार सरदार सरोवर बांध (एसएसडी) को अक्टूबर के मध्य तक पूर्ण जलाशय स्तर (एफआरएल) तक भरा जाना था लेकिन एसएसडी को तय समय से लगभग एक महीने पहले पूर्ण स्तर तक भर दिया गया ताकि प्रधानमंत्री जन्मदिन का कार्यक्रम वहां मनाया जा सके।

मध्यप्रदेश के गृहमंत्री ने कहा कि बांध भरने के तय समय में परिवर्तन से मध्यप्रदेश के चार जिलों में सरदार सरोवर के बैकवॉटरसे जलमग्न क्षेत्रों में चल रहे राहत और पुनर्वास कार्यों को बाधा पहुंची है। उन्होंने कहा, ‘‘यदि मोदी जी ने एसएसडी के बैकवॉटर के कारण मध्यप्रदेश के प्रभावित लोगों की ओर ध्यान दिया होता तो बेहतर होता। उन्हें (मोदी) प्रभावितों के लिए राहत राशि तत्काल मंजूर करनी चाहिये। केन्द्र ने मध्यप्रदेश के बांध प्रभावितों के उचित पुनर्वास को सुनिश्चित करने का वादा किया था, लेकिन यह वादा पूरा नहीं किया गया।’’

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी मंगलवार को 69 वर्ष के हो गये। मोदी अपने जन्मदिन पर गुजरात में सरदार सरोवर बांध स्थल गए जहां पहली बार बांध का जलस्तर अपने उच्चतम स्तर पर पहुंचा है। इस मौके पर बांध स्थल पर ‘‘नमामि नर्मदे’’ कार्यक्रम आयोजित किया गया। नर्मदा बचाओ आंदोलन (एनबीए) की कार्यकर्ता मेधा पाटकर ने कहा कि मध्यप्रदेश के बड़वानी, धार, अलीराजपुर और खरगोन जिलों के 178 गाँवों के निवासी सरदार सरोवर के बैकवॉटर से प्रभावित हैं। पाटकर ने सोमवार को पीटीआई से फोन पर कहा, ‘‘जब मोदीजी का जन्मदिन मनाया जाएगा, हम बड़वानी में विरोध प्रदर्शन करेंगे।’’ उन्होंने कहा, ‘‘हम चाहते हैं कि मध्यप्रदेश के बड़वानी, धार, अलीराजपुर और खरगोन के 178 गांवों के उचित और पूर्ण पुनर्वास के बाद ही बांध के गेट बंद किये जायें तथा फिलहाल लोगों को राहत देने के लिये सरदार सरोवर बांध के गेट तुरंत खोल दिये जाने चाहिये।’’ 2017 में सरदार सरोवर बांध की ऊंचाई बढ़ाए जाने के बाद पहली बार जल स्तर अपने उच्चतम स्तर पर पहुंचा है। यह जलस्तर रविवार शाम को 138.68 मीटर था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *