सड़कों के चौड़ीकरण के लिये बनाया जाये मास्टर प्लान

 

सिवनी में दिन प्रतिदिन यातायात का दबाव बढ़ता जा रहा है लेकिन इससे निजात दिलाने के लिये नगर पालिका और यातायात विभाग जैसी संस्थाओं सहित जिला प्रशासन के द्वारा भी कोई जतन नहीं किये जा रहे हैं जिससे किसी एक को नहीं बल्कि अधिकांश लोगों को शिकायत है।

यातायात की दृष्टि से सिवनी की सड़कें अत्यंत संकरी साबित हो चुकी हैं लेकिन इस दिशा में संबंधित विभागों के द्वारा तो ध्यान दिया ही नहीं जा रहा है साथ ही साथ मीडिया में भी इस विषय को लेकर ज्यादा कुछ देखने को नहीं मिलता है जबकि वाहन चालक ही नहीं बल्कि पैदल राहगीरों का भी सड़कों पर चलना अत्यंत दूभर हो चला है।

सिवनी में हाल ही में कटंगी रोड का निर्माण करवाया गया। यह नयी रोड जैसे-जैसे शहर के अंदरूनी हिस्सों की तरफ बढ़ती गयी, वैसे-वैस पूर्व की भांति ही संकरी अवस्था में इसका नव निर्माण करवा दिया गया। शहर के अंदर इस मार्ग की चौड़ाई यथावत रखने के पीछे नाली टू नाली जैसा बेतुका तर्क भी दिया गया और आश्चर्य जनक बात यह है कि इस तरह का तर्क देते समय यातायात की जटिलता को ध्यान में बिल्कुल भी नहीं रखा गया।

यदि गणेश चौक से कटंगी नाका की दिशा में वर्तमान रोड की चौड़ाई को बाहरी हिस्से की तरह यथावत रखा जाता तो मुमकिन था कि कम से कम शहर के इस मार्ग पर तो यातायात सुगम हो ही जाता, साथ ही इस मार्ग की सुंदर बढ़ने के कारण इस संपूर्ण क्षेत्र में चार चाँद लग जाते लेकिन अज्ञात कारणों के चलते इस मार्ग को चौड़ा नहीं होने दिया गया। इस तरह कहा जा सकता है कि कुछ जिम्मेदार लोगों की बेवकूफी के कारण, सड़क चौड़ी करने का एक महत्वपर्ण अवसर जान बूझकर गवां दिया गया।

जिला प्रशासन में बैठे आला अधिकारियों से अपेक्षा है कि वे एक बार सिवनी शहर का भ्रमण, पैदल अवश्य ही करें और अतिक्रमणों को हटवाकर, सड़कों के चौड़ीकरण के लिये कोई मास्टर प्लान बनायें। इसके साथ ही यह भी अपेक्षा है कि सड़क चौड़ी करने के पूर्व अतिक्रमण हटाने वाले कार्य में किसी को भी न बख्शा जाये। यदि ऐसा किया जाता है तो सिवनी की सड़कों पर चलने वाले लोग आने आप को सुरक्षित ही समझेंगे वरना तो, इन सड़कों को और भी ज्यादा संकरा बनाने वाले आवारा मवेशी भी लोगों के मध्य आतंक फैलाने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं।

शेख खालिद