आठ दिन बीते कितना हुआ गेहॅू परिवहन!

जिलाधिकारी ने दी थी परिवहनकर्ता ठेकेदार को कड़ी चेतावनी!

(ब्यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। सिवनी में प्रशासनिक शिथिलता महसूस होने लगी है। जिलाधिकारी डॉ. राहुल हरिदास फटिंग के द्वारा 19 मई को तीन दिवस के अंदर 90 फीसदी उपार्जित गेहॅू का परिवहन किए जाने के निर्देश दिए जाने के बाद 26 मई तक कितना गेहूं परिवहन किया गया, इस बारे में प्रशासन मौन ही दिख रहा है।

ज्ञातव्य है कि 19 मई को जिला जनसंपर्क कार्यालय के द्वारा जारी विज्ञप्ति में कहा गया था कि कलेक्टर डॉ.राहुल हरिदास फटिंग द्वारा रबी उपार्जन वर्ष 2020-21 अंतर्गत संचालित समर्थन में गेहूं उपार्जन कार्यों में परिवहनकर्ता द्वारा धीमी गति से परिवहन किये जाने पर नाराजगी व्यक्त की थी।

इससे सम्बंधित किसानों के लंबित भुगतानों के मद्देनजर सेक्टर लखनादौन के परिवहनकर्ता नर्मदा इंटरप्राइजेस के 63.02 प्रतिशत एवं सेक्टर केवलारी के परिवहनकर्ता सीताराम ट्रांसपोर्ट द्वारा 76.73 प्रतिशत तथा सेक्टर सिवनी के परिवहनकर्ता यूनाइटेड फाईट कोरियर द्वारा 70.93 प्रतिशत ही परिवहन करने पर सभी परिवहनकर्ता को 3 दिवस के भीतर 90 प्रतिशत तक परिवहन के निर्देश दिए थे।

विज्ञप्ति के अनुसार अन्यथा की स्थिति में विलंब से परिवहन पाये जाने पर संबंधित परिवहनकर्ता पर जुर्माना आरोपित करने के साथ ही द्वितीय परिवहनकर्ता से जोखिम एवं खर्च पर परिवहन कार्य कराया जाएगा तथा सम्बन्धित परिवहनकर्ता को आगामी 10 वर्षों के लिए परिवहन कार्य करने हेतु अयोग्य घोषित करने हेतु प्रस्तावित किया जाएगा।

इस हिसाब से उपार्जित गेहूं का 90 फीसदी हिस्सा 21 मई तक किया जाना चाहिए था, किन्तु 26 मई तक जनसंपर्क विभाग के द्वारा जिला स्तर पर जारी विज्ञप्ति में इस आशय का कोई समाचार अब तक जारी नही किया गया है।

जिला प्रशासन के उच्च पदस्थ सूत्रों ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया से चर्चा के दौरान कहा कि अमूमन जिलाधिकारियों के द्वारा इस तरह के आदेश तो जारी कर दिए जाते हैं जो समय सीमा में बंधे होते हैं, पर इन आदेशों की तामीली हो रही है अथवा नहीं, इस ओर देखने की फुर्सत किसी को भी नहीं रहती है, जिससे अधिकारी उच्चश्रृखंल हो जाते हैं। यही आलम गेहूॅ परिवहन के मामले में भी होता दिख रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *