कार्तिकेय मंदिर के पट खुलेंगे रविवार को

नमस्कार, आप सुन रहे हैं समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया की साई न्यूज की समाचार श्रृंखला में ब्रहस्पतिवार 26 नवंबर 2020 का प्रादेशिक आडियो बुलेटिन, अब आप रीना सिंह से समाचार सुनिए.
—–
गृह मंत्रालय के नए एसओपी ने स्पष्ट कर दिया है कि मौजूदा समय में शिक्षण संस्थानों में पढ़ाई कराना संभव नहीं है। इसलिए अभी कॉलेज नहीं खोले जा सकते। यदि सरकार कॉलेज में पढ़ाई करना चाहती है तो गाइडलाइन के सभी शर्तों को पूरा कराना होगा। इस आदेश पर मंथन करने के लिए जल्द ही उच्च शिक्षा विभाग बैठक करेगा। जिसमें तय होगा कि यूजीसी की सभी शर्तों को पूरा कराया जा सकता है या नहीं। क्योंकि कॉलेज खोलने की स्थिति और संक्रमण के बाद बचाव के लिए क्या कदम उठाए जाएंगे। इस संबंध में भी विभाग को चर्चा करनी होगा।
यूजीसी ने उच्च शिक्षा विभाग और राज्य सरकार को 18 पेज का रोस्टर दिया है। जिसमें यदि कालेज या शिक्षण संस्थान खोले जाते हैं तो संक्रमण न फैले। इसलिए क्या-क्या कदम उठाए जा सकते हैं। इस संबंध में 80 बिन्दुओं का सरकार को पालन कराना होगा।
—–
मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल पुलिस ने पांच राज्यों में एटीएम तोड़कर रूपये लूटने वाली गैंग को दबोचा है। हरियाणा और राजस्थान में रहने वाले इस गैंग के सदस्य अपने गृह राज्य को छोड़कर मध्य प्रदेश समेत अन्य राज्यों में एटीएम लूटने की वारदात को अंजाम देते थे। भोपाल पुलिस ने इस अंतरराज्यीय गिरोह के 6 सदस्यों को लूट की वारदात को अंजाम देते हुए रंगे हाथों दबोचा है।
मध्य प्रदेश पुलिस पिछले दो सालों से आरोपियों की तलाश में जुटी थी। इसके अलावा, कर्नाटक, असम, महाराष्ट्र और बिहार की पुलिस भी आरोपियों की तलाशमें पिछले कई दिनों से जगह जगह छापे मारी कर रही थी। आरोपी 14 नवंबर को ईटखेड़ी में बैंक एटीएम में चोरी करने के बाद बुधवार-गुरुवार की रात दोबारा भोपाल में एटीएम में चोरी कर रहे थे। हालांकि, पुलिस को इसकी सूचना पहले ही मिल चुकी थी, जिसके आधार पर पुलिस ने पहले से ही लुटेरों के लिए जाल बिछाकर रखा था। भोपाल एडीजी उपेंद्र जैन के मिताबिक, गैंग के सदस्य अब तक जगह जगह एटीएम में लूटपाट करके 2 करोड़ रुपए से अधिक रकम चुरा चुके हैं।
—–
कोरोना काल में प्रदेश के प्रसिद्ध कड़कनाथ की देश में बढ़ती माँग को देखते हुए राज्य शासन ने इसके उत्पादन और विक्रय को बढ़ाने के लिये विशेष योजना तैयार की है। इससे कुक्कुट पालकों की आय में भी इजाफा होगा। कड़कनाथ का शरीर, पंख, पैर, खून, मांस सभी काले रंग का होता है। रोग प्रतिरोधक क्षमता के साथ कम वसा, प्रोटीन से भरपूर, हृदय-श्वास ओर एनीमिक रोगी के लिए लाभकारी है। कड़कनाथ पशुधन एवं कुक्कुट विकास निगम के अधिकृत विक्रेता चिकन पार्लर पर लोगों के लिये उपलब्ध है।
—–
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि मध्य प्रदेश की कृषि उपज मंडियों में व्यापारियों से लिए जाने वाले मंडी शुल्क की राशि अब 01 रूपए 50 पैसे के स्थान पर 50 पैसे प्रति 100 रुपए होगी। यह छूट 14 नवंबर 2020 से आगामी 3 माह के लिए रहेगी। मध्य प्रदेश सरकार ने गत दिनों व्यापारियों से इस संबंध में किए गए वादे को पूरा कर दिया है। व्यापारियों द्वारा मुख्यमंत्री श्री चौहान को आश्वस्त किया गया था कि इससे मंडियों की आय में कमी नहीं होगी। 3 महीने बाद इस छूट के परिणामों का अध्ययन कर आगे के लिए निर्णय लिया जाएगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान आज इस संबंध में विभाग की उच्च स्तरीय बैठक ले रहे थे।
—–
सागर स्थित सरकारी बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज के 26 वर्षीय चिकित्सक शुभम उपाध्याय की कोविड-19 के कारण बुधवार को भोपाल के एक निजी अस्पताल में मौत हो गई। डॉ शुभम की यह पहली नौकरी थी। पहले ही दिन से वह कोविड मरीजों को बचाने में लगे थे। इस दौरान खुद ही वह संक्रमण की चपेट में आ गए। स्थिति खराब होने के बाद 10 नवंबर को भोपाल के चिरायु अस्पताल में डॉ शुभम को भर्ती कराया गया था। 25 नवंबर को उनका निधन हो गया है। सीएम शिवराज सिंह चौहान ने डॉ शुभम के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है।
चिरायु मेडिकल कॉलेज के निदेशक डॉ. अजय गोयनका ने बताया कि 26 वर्षीय डॉक्टर शुभम उपाध्याय की बुधवार को हमारे अस्पताल में मौत हो गई। वह कोरोना वायरस से संक्रमित थे और 10 नवंबर से हमारे अस्पताल में भर्ती थे। उन्होंने कहा कि उनके फेफड़े पूरी तरह खराब हो गये थे। हमलोगों ने काफी कोशिश की लेकिन सेहत में कोई सुधार नहीं हुआ।
डॉ शुभम के साथी डॉक्टर उमेश पटेल ने बताया कि उपाध्याय ने इसी साल आठ अप्रैल को सागर के बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज में संविदा चिकित्सक के रूप में ड्यूटी ज्वाइन की थी। वह वहां पर कोविड-19 मेडिकल अधिकारी थे। उन्होंने कहा कि वह 28 अक्टूबर को कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए थे और तब से लेकर 10 नवंबर तक उनका इलाज सागर के बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज में चल रहा था, लेकिन उनकी स्थिति अत्यधिक खराब होने के कारण उन्हें 10 नवंबर को भोपाल के चिरायु मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में रेफर किया गया और तब से उनका इलाज इसी अस्पताल में चल रहा था।
—–
मध्यप्रदेश बोर्ड परीक्षा के विद्यार्थियों को अब दीर्घ उत्तरीय प्रश्नों से निजात मिलने वाली है। इसके बदले अब उनसे छोटे-छोटे तार्किक प्रश्न पूछे जाएंगे, जिसका उत्तर पूरे चौप्टर को ठीक से समझकर पढ़ने के बाद ही दिया जा सकेगा। दरअसल, माध्यमिक शिक्षा मंडल बोर्ड की दसवीं और बारहवीं की परीक्षा में पूछे जाने वाले प्रश्नों के पैटर्न पर बदलाव करने जा रहा है। अब हर साल पूछे जाने वाले सीधे-सीधे प्रश्नों की जगह तार्किक और समझ-परख के प्रश्न पूछे जाएंगे।
हर विषय के 100 अंक के प्रश्नपत्र में 30 फीसद वस्तुनिष्ट, 30 फीसद सब्जेक्टिव और 40 फीसद समझ-परख के प्रश्न होंगे। पहले बोर्ड परीक्षा में 25 फीसद वस्तुनिष्ट और 75 फीसद लघु व दीर्घ उत्तरीय प्रश्न होते थे। मंडल के अध्यक्ष ने हाल ही में प्रश्नपत्र के पैटर्न में बदलाव करने को लेकर प्रश्नपत्र निर्माण समिति की बैठक में यह निर्णय लिया है। मंडल अध्यक्ष राधेश्याम जुलानिया का मानना है कि किताब के अंदर से तार्किक प्रश्न पूछे जाने से विद्यार्थी पूरे चौप्टर को सही तरीके से समझकर पढ़ेंगे। इससे उनकी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी भी ठीक से हो पाएगी।
—–
समाचारों के बीच में हम आपको यह जानकारी भी दे दें कि मौसम के अपडेट जाने के लिए समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के चेनल पर रोजाना अपलोड होने वाले वीडियो जरूर देखें। मौसम से संबंधित अपडेट मूलतः किसानों, निर्माण कार्य करवाने वालों आदि के लिए फायदेमंद साबित हो सकते हैं। समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के द्वारा अब तक मौसम के जो पूर्वानुमान जारी किए गए हैं, वे 95 से 99 फीसदी तक सही साबित हुए हैं।
——-
झाबुआ से भाजपा के सांसद गुमानसिंह डामोर के इंदौर में आयोजित पारिवारिक कार्यक्रम पर राजनीति शुरू हो गई है। कोरोना गाइड लाइन का उल्लंघन करने के आरोप के साथ कांग्रेस नेताओं ने आरोप लगाया कि भाजपा नेता न केवल बार बार नियम तोड़ रहें हैं बल्कि जनता की जान भी जोखिम में डाल रहे हैं। कांग्रेस नेता ने आयोजन की तस्वीरों के साथ शिकायत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ट्वीट भी कर दी। बुधवार रात ब्रिलियंट कन्वेंशन सेंटर में भाजपा के सांसद गुमानसिंह डामोर के बेटे के विवाह के अवसर पर आशीर्वाद समारोह आयोजित किया गया। कोरोना के लिए जारी गाइडलाइन के अनुसार विवाह समारोह में सिर्फ 250 लोग ही शामिल हो सकते हैं।
कांग्रेस सचिव राकेश सिंह यादव ने समारोह की तस्वीरों के साथ प्रधानमंत्री को ट्वीट किया कि समारोह में एक हजार से भी ज्यादा लोग एक समय में जमा हुए। समयसीमा को लेकर भी नियमों का पालन नहीं हुआ। क्या कोरोना से बचाव के नियम भाजपा नेताओं पर लागू नहीं होते। यादव ने कहा कि प्रशासन आम लोगों पर तो कार्रवाई करता है लेकिन नियम तोड़ते भाजपा नेताओं पर आंख मूंद लेता है।
——-
ग्वालियर के जीवाजीगंज मार्ग हनुमान चौराहे के पास स्थित भगवान कार्तिकेय के मंदिर के पट रविवार 29 नवंबर कार्तिक पूर्णिमा के दिन रात्रि 12 बजे खोले जाएंगे। सबसे पहले भगवान कार्तिकेय को स्नान कराकर उनका श्रृंगार व आरती की जाएगी। उसके पश्चात 30 नवम्बर सोमवार सुबह 4 बजे श्रद्धालुओं को दर्शन कराए जाएंगे। श्रद्धालु इस दिन भगवान कार्तिकेय पर प्रशाद चढ़ाकर अपनी मन्नत मांगते है। कहा जाता है कि जो इस दिन अपनी मन्नत मांगता है वह पूरी होती है। मन्नत पूरी होने पर अगले वर्ष कार्तिक पूर्णिमा पर पुनः दर्शन करने आते है। यह मंदिर श्रद्धालुओं के लिए 24 घंटे तक खुले रहेंगे। सोमवार की रात्रि व मंगलवार सुबह 4 बजे पुजारी पूजा अर्चना कर कार्तिकेय भगवान की प्रतिमा को कपड़े के खोल से ढंककर दरवाजे पर ताला लगा देंगे। इसके बाद यह दरवाजा अगले वर्ष कार्तिक पूर्णिमा पर ही खुलेगा।
——-
मप्र हाईकोर्ट ने जबलपुर में ऑटो की धमाचौकड़ी और नियमों का पालन न करने के चलते नए परमिट जारी करने पर लगाई गई रोक को बरकरार रखा है। दरअसल ऑटो ड्राइवर्स एसोसिएशन की ओर से रोक हटाने का आग्रह किया गया था। कोर्ट को बताया गया कि याचिकाकर्ताओं ने ऑटो फाइनेंस कराया है, लेकिन परमिट नहीं जारी होने से वे इसकी किस्त तक नहीं चुका पा रहे हैं। लिहाजा, उन्हें परमिट जारी किया जाए। कोर्ट ने इस आग्रह को दरकिनार करते हुए अपने पुराने आदेश को बरकरार रखा है।
ऑटो ड्राइवर्स एसोसिएशन की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता नमन नागरथ ने पक्ष रखते हुए नए परमिट जारी करने पर लगाई रोक हटाने का आग्रह किया। वहीं ऑटो चालक मोहम्मद जाकिर और अन्य की ओर से दायर हस्तक्षेप याचिका के पक्ष में दलील देते हुए अधिवक्ता अमित मिश्रा ने कोर्ट को बताया कि याचिकाकर्ताओं को नए परमिट जारी नहीं होने से आर्थिक नुकसान हो रहा है। लोगों ने ऑटो फाइनेंस करा लिए, लेकिन परमिट जारी नहीं होने से वे इसकी किस्त तक नहीं चुका पा रहे हैं। कोर्ट ने सारी दलीलों को खारिज करते हुए अपने पुराने आदेश को बरकरार रखा है।
——-
आप सुन रहे थे रीना सिंह से समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया की साई न्यूज में ब्रहस्पतिवार 26 नवंबर का प्रादेशिक आडियो बुलेटिन। शुक्रवार 27 नवंबर को एक बार फिर हम आडियो बुलेटिन लेकर हाजिर होंगे, अगर आपको यह आडियो बुलेटिन पसंद आ रहे हों तो आप इन्हें लाईक, शेयर और सब्सक्राईब जरूर करें, सब्सक्राईब कैसे करना है यह हर वीडियो के आखिरी में हम आपको बताते हैं। फिलहाल इजाजत लेते हैं, नमस्कार।
(साई फीचर्स)

———