वास्तविक अखबार मालिक और संपादक थे ललित जी . . .

नमस्कार, आप सुन रहे हैं समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया की साई न्यूज की समाचार श्रृंखला में ब्रहस्पतिवार 03 दिसंबर 2020 का प्रादेशिक आडियो बुलेटिन, अब आप रीना सिंह से समाचार सुनिए.
——-
अखबार मालिक और वास्तविक संपादकों या प्रधान संपादकों वाले संस्थान देशबंधु के प्रधान संपादक एवं जाने माने लेखक, कवि ललित सुरजन का निधन हो गया है। वर्तमान दौर में अधिकांश संस्थानों में अखबार मालिक ही प्रधान संपादक हुआ करते हैं, पर वे साल में एकाध मर्तबा ही कुछ लिख पाते हैं। इस मिथक को सबसे पहले देशबंधु के संस्थापक संपादक स्व. मायाराम सुरजन जी ने तोड़ा और उसके बाद उनके ज्येष्ठ पुत्र ललित सुरजन के द्वारा देशबंधु के प्रधान संपादक रहते हुए लगभग रोज ही खबरें या आलेख लिखे गए। ललित सुरजन के निधन के उपरांत सोशल मीडिया पर उन्हें श्रृद्धांजलि देने के तांता लगा हुआ है। उनसे सीखने वाले अथवा उनके सानिध्य में रहकर पत्रकारिता करने वालों ने उन्हें पत्रकारिता का एक विश्वविद्यालय भी निरूपति किया है। समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के संपादक लिमटी खरे ने स्व. ललित सुरजन को श्रृद्धासुमन अर्पित करते हुए कहा कि ललित जी के सानिध्य में देशबंधु रायपुर में शुरूआती दौर में काम करते हुए उन्होंने बहुत कुछ सीखा। उन्होंने बताया कि जब मजदूर नेता शंकर गुहा नियोगी की हत्या हुई थी तब रात दो बजे ललित जी खुद कार्यालय पहुंचे और खबर सामने से बनवाई थी। वे बहुत सरल, सुलझे हुए व्यक्तित्व के धनी थे एवं लोगों की मदद कर वे बहुत ही प्रसन्न हुआ करते थे।
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने देशबंधु समाचार पत्र समूह के प्रधान संपादक और प्रख्यात लेखक ललित सुरजन के निधन पर गहरा दुख व्यक्त किया है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि सामाजिक विषयों पर महत्वपूर्ण सामग्री प्रकाशित कर उन्होंने वर्षों परिश्रम पूर्वक कार्य किया । श्री सुरजन के निधन से पत्रकारिता के क्षेत्र में कार्य करने वाले एक महत्वपूर्ण व्यक्तित्व को हमने खो दिया है। यह मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ के साथ ही पत्रकारिता जगत की बड़ी क्षति है।
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि अविभाजित मध्यप्रदेश में पत्रकारिता के विकास में ललित जी का महत्वपूर्ण योगदान रहा। उन्होंने जबलपुर भोपाल ,सतना आदि से अखबार के संस्करण प्रकाशित कर पाठकों को सुरुचिपूर्ण सामग्री उपलब्ध करवाई।
——-
पंजाब के साथ प्रदेश के ग्वालियर इलाके के किसान भी अब दिल्ली कूच कर गए हैं। इस बीच सीएम शिवराज सिंह चौहान ने एमपी के किसानों को बड़ा तोहफा दिया है। किसान सम्मान निधि की तरह शिवराज सिंह चौहान ने उपचुनाव से पहले मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना की शुरुआत की थी। इस योजना के तहत एमपी के किसानों को हर साल 4 हजार रुपये मिलने थे। केंद्र की 6 और राज्य की 4 मिलाकर किसानों को कुल 10 हजार रुपये मिलने थे।
उपचुनाव खत्म होने के बाद राज्य सरकार ने मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना की पहली किस्त आज जारी कर दी है। सीएम शिवराज सिंह चौहान ने एक क्लिक पर प्रदेश के 5 लाख किसानों के खाते में 100 करोड़ रुपये ट्रांसफर किए हैं। सरकार का कहना है कि इससे प्रदेश के 80 लाख किसानों को फायदा होगा। जल्द ही बचे हुए किसानों के खाते में भी राशि ट्रांसफर की जाएगी। इसके लिए सीहोर जिले के नसरूल्लागंज में कार्यक्रम आयोजित किया गया था। सभी किसानों के खाते में आज 2-2 हजार रुपये की राशि जाएगी।
——-
बुधवार को एक दिन के दौरे पर सिंगरौली आए मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा एक बड़ा ऐलान करते हुए कहा कि अब प्रदेश में हर जिले के दो थाने एफआईआर आपके द्वार का ही काम करेंगे। नरोत्तम मिश्रा लगभग 11 बजे सिंगरौली पहुंचे और सबसे पहले बीजेपी कार्यालय पहुंचकर कार्यकर्ताओं को संबोधित किया। इसके तुरंत बाद रीवा संभाग के पुलिस अधिकारियों के साथ अपराधों की समीक्षा बैठक की। बैठक के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए गृह मंत्री ने कहा कि सिंगरौली में अब तक एक भी एफआईआर आपके द्वार नहीं हुई है। अब प्रदेश के हर जिले में 2 थाने एफआईआर आपके द्वार का काम करेंगे और इसकी शुरुआत सिंगरौली से ही होगी।
——-
प्रदेश में कोरोना वैक्सीईन के ट्रायल के बीच गृहमंत्री डॉक्टर नरोत्तम मिश्रा ने बड़ा ऐलान किया है। आज मीडिया से बातचीत में डॉक्टर नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि कोरोना वैक्सीन के ट्रायल के लिए वे भी वालंटियर बनने को तैयार हैं। गृहमंत्री ने कहा कि वे इस बारे में आज ही डॉक्टर्स से बात करेंगे। उन्होंने कहा कि यदि हम जैसे लोग आगे आएंगे तो दूसरे लोग भी प्रेरित होंगे।
उल्लेखनीय है कि आइसीएमआर और भारत बायोटेक द्वारा तैयार की जा रही वैक्सीन का कैटेगरी 2 का ट्रायल गांधी मेडिकल कॉलेज यानि जीएमसी में किया जाना है।
बताया जाता है कि इस कैटेगरी में टीका लगवाने के बाद किसी को कोरोना संक्रमण होता है तो उसे ट्रायल से बाहर नहीं किया जाएगा। टीका लगने के बाद फोन के जरिए और अस्पोताल बुलाकर लोगों का फॉलोअप लिया जाएगा। उनकी कोरोना के अलावा लिवर, किडनी और हार्ट से जुड़ी जांचें भी कराई जाएंगी।
प्राप्त जानकारी के अनुसार एक हजार लोगों पर यह ट्रायल किया जाना है। बता दें कि इसी वैक्सीन का पीपुल्स मेडिकल कॉलेज में भी कैटेगरी एक में ट्रायल किया जा रहा है। अब तक 20 लोगों पर ट्रायल किया गया है।
——-
राजधानी भोपाल के नीलम पार्क में प्रदर्शन पर बैठे 500 से अधिक कोविड-19 स्वास्थ्य कर्मचारियों को पुलिस ने लाठियां मारीं। पुलिस उन्हें काफी देर से हटने के लिए कह रही थी, लेकिन नहीं मानने पर पुलिसकर्मियों ने उन्हें जबरन उठाने का प्रयास किया। इसके कारण प्रदर्शनकारी भी उग्र हो गए। इसके बाद पुलिस ने उन पर जमकर लाठियां भांजी। इसमें प्रदर्शनकारियों को चोटें आई हैं। हालांकि अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं की जा सकी थी।
नगर निरीक्षक वीरेंद्र सिंह ने बताया कि स्वास्थ्य कर्मियों ने सिर्फ एक दिन के प्रदर्शन की अनुमति ली थी। आज गैस पीड़ित संगठनों ने भी प्रदर्शन की अनुमति ली थी। ऐसे में पहले प्रदर्शनकारियों को दोबारा से अनुमति लेने को कहा, लेकिन प्रदर्शनकारी अपनी जगह से हटने को तैयार नहीं थे। ऐसे में उन्हें बलपूर्वक हटाना पड़ा।
——-
मध्य प्रदेश युवक कांग्रेस चुनाव के लिए मतदान की तारीख तय हो गई है। 10, 11 व 12 दिसंबर को मतदान होगा। ऐसा पहली बार होगा, जब किसी संगठन के चुनाव ऑनलाइन हो रहे हैं। इसके लिए एक ऐप बनाया गया है। हर सदस्य को इसे डाउनलोड करना होगा। इसके माध्यम से 3 लाख 50 हजार से ज्यादा सदस्य प्रदेश अध्यक्ष चुनेंगे। इसके अलावा प्रदेश महामंत्री, जिला अध्यक्ष, जिला महामंत्री व विधानसभा प्रभारी के लिए भी सदस्य वोट करेंगे। प्रदेश अध्यक्ष के लिए 12 उम्मीदवार मैदान में हैं, जबकि 116 उम्मीदवारों में से प्रदेश महामंत्री के 11 और 56 सचिव चुने जाएंगे।
अध्यक्ष पद के लिए आगर से विधायक विपिन वानखेड़े, पूर्व विधायक लाखन सिंह के भतीजे संजय यादव और पूर्व केंद्रीय मंत्री कांतिलाल भूरिया के बेटे विक्रांत भूरिया के बीच मुकाबला है। विक्रांत के लिए पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह लॉबिंग कर रहे हैं, जबकि पूर्व मंत्री जीतू पटवारी संजय यादव को वोट देने के लिए सदस्यों को फोन कर रहे हैं। बावजूद, इसके दोनों पर विधायक वानखेड़े भारी पड़ सकते हैं। वजह है कि वानखेड़े ने एनएसयूआई के कार्यकर्ताओं को युवक कांग्रेस की सदस्यता दिलाने का अभियान चलाया था, जिससे उनके समर्थकों की संख्या अन्य दावेदारों के मुकाबले ज्यादा नजर आ रही है। हालांकि एनएसयूआई के प्रदेश प्रवक्ता विवेक त्रिपाठी भी अध्यक्ष की दौड़ में हैं।
प्रदेश कार्यकारिणी के लिए चार उपाध्यक्ष चुने जाएंगे, जिनमें से एक महिला व एक अनुसूचित जाति-जनजाति का होगा। महामंत्री में एक-एक अनुसूचित जाति-जनजाति, अन्य पिछड़ा वर्ग, अल्पसंख्यक, महिला व अनुसूचित जाति-जनजाति और विकलांग के लिए रिजर्व किया गया है। पांच महामंत्री पद सामान्य होंगे। इसके अलावा सचिव पद पर उन नेताओं की नियुक्ति की जाएगी, जो निर्धारित न्यूनतम मत हासिल करेंगे।
——-
समाचारों के बीच में हम आपको यह जानकारी भी दे दें कि मौसम के अपडेट जाने के लिए समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के चेनल पर रोजाना अपलोड होने वाले वीडियो जरूर देखें। मौसम से संबंधित अपडेट मूलतः किसानों, निर्माण कार्य करवाने वालों आदि के लिए फायदेमंद साबित हो सकते हैं। समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के द्वारा अब तक मौसम के जो पूर्वानुमान जारी किए गए हैं, वे 95 से 99 फीसदी तक सही साबित हुए हैं।
——-
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि गैस त्रासदी की घटना में विधवा हो गईं प्रत्येक कल्याणी बहन को एक-एक हजार रुपये की मासिक पेंशन पुनः प्रारंभ की जाएगी। यह पेंशन नियमित रूप से कल्याणी महिलाओं को मिलती थी। वर्ष 2019 में यह पेंशन बंद कर दी गई थी, जिसे फिर से प्रारंभ किया जाएगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि राजधानी में गैस त्रासदी से संबंधित एक विशिष्ट स्मारक भी होना चाहिए। शीघ्र ही यह प्रकाश स्तम्भ स्मारक बनाया जाएगा जो प्रेरणा का कार्य करेगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान भोपाल गैस त्रासदी की 36वीं बरसी पर आज भोपाल के बरकतउल्ला भवन में आयोजित सर्वधर्म प्रार्थना सभा को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने गैस त्रासदी में दिवगंत और प्रभावित भोपाल के नागरिकों की प्रतीक प्रतिमा पर पुष्प अर्पित किए।
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि भोपाल गैस त्रासदी से प्रभावित लोगों के समक्ष स्वास्थ्य की गंभीर चुनौतियां खड़ी हो गईं थीं। इनको प्राथमिकता से उपचार की पूरी सुविधाएं उपलब्ध करवाई जा रही हैं। कोरोना काल के संकट को देखते हुए ऐसे रोगियों के उपचार पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। यही नहीं स्वच्छ नर्मदा जल भी पुराने और नए भोपाल के नागरिकों को मिल रहा है। गैस त्रासदी से संबंधित कचरा निपटान की व्यवस्थाएं की गईं हैं। इन्हें और बेहतर बनाने के लिए आवश्यक कदम उठाए जाएंगे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि हमें विकास का ऐसा मॉडल बनाना है जो मानव- हितैषी हो।
——-
आप सुन रहे थे रीना सिंह से समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया की साई न्यूज में ब्रहस्पतिवार 03 का प्रादेशिक आडियो बुलेटिन। शुक्रवार 04 दिसंबर को एक बार फिर हम आडियो बुलेटिन लेकर हाजिर होंगे, अगर आपको यह आडियो बुलेटिन पसंद आ रहे हों तो आप इन्हें लाईक, शेयर और सब्सक्राईब जरूर करें, सब्सक्राईब कैसे करना है यह हर वीडियो के आखिरी में हम आपको बताते हैं। फिलहाल इजाजत लेते हैं, नमस्कार।
(साई फीचर्स)

———