कोरोना संक्रमण रोकने सख्ती होने लगी आरंभ

नमस्कार, आप सुन रहे हैं समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया की साई न्यूज की समाचार श्रृंखला में बुधवार 07 अप्रैल 2021 का प्रादेशिक आडियो बुलेटिन, अब आप रीना सिंह से समाचार सुनिए.
——–
प्रदेश में तेजी से बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के कारण अब हर जगह सख्ती शुरु हो गई है। सड़कों व चौक चौराहों पर एक तरफ जहां पुलिस सख्ती से कोरोना गाइड लाइन का पालन करा रही है तो वहीं दूसरी तरफ अब सरकारी दफ्तरों में भी सख्ती शुरु हो गई है। प्रदेश के सभी विभिन्न सरकारी दफ्तरों में अधिकारियों व कर्मचारियों सभी के लिए मास्क लगाना अनिवार्य कर दिया गया है। इतना ही नहीं किसी भी अधिकारी व कर्मचारी के मास्क न लगाने पर उस पर
आर्थिक दंड भी लगाया जाएगा और उसकी सैलरी में से 500 रुपए काटे जाएंगे। नेशनल हेल्थ मिशन मध्यप्रदेश की तरफ से इसके आदेश जारी किए गए हैं।
——–
अगर आप ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने का सोच रहे है तो ये खबर आपके लिए है। मध्यप्रदेश के सभी आरटीओ में आज से ड्राइविंग लाइसेंस नहीं बनेंगे। जानकारी के लिए बता दें कि राजधानी भोपाल सहित प्रदेशभर के सभी आरटीओ में बुधवार से अनिश्चितकालीन हड़ताल की जा रही है। जिसके कारण लर्निंग लाइसेंस, वाहनों के रजिस्ट्रेशन, परमिट और फिटनेस के काम पूरी तरह से बंद रहेंगे।
वहीं दूसरी ओर सड़क परिवहन और राज्य मार्ग मंत्रालय ने 1 अप्रैल से पायलट प्रोजेक्ट के रूप में सतना और खरगोन जिले को शामिल कर फेसलेस ऑनलाइन लाइसेंस सेवा शुरू कर दी है। इस सुविधा के तहत लोगों को ड्राइविंग लाइसेंस के लिए परिवहन विभाग कार्यालय (आरटीओ) के चक्कर नहीं लगाने होंगे। घर बैठे महिलाओं के ड्राइविंग लाइसेंस निःशुल्क वहीं पुरुषों को महज 274 रुपए ऑनलाइन फीस देकर फेसलेस लाइसेंस बन जाएगा।
वहीं इन दोनों जिलों में आरटीओ संबंधी अन्य सेवाएं भी घर बैठे मिलने वाली है। जिसमे ड्राइविंग लाइसेंस का नवीनीकरण, ड्राइविंग लाइसेंस डुप्लीकेट प्रति या ड्राइविंग लाइसेंस में पता परिवर्तन की प्रक्रिया भी संपर्क रहित की जा रही है।
——–
मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर लगातार गंभीर रूप अख्तियार कर रही है, लेकिन यदि आम लोग सावधानियां रखें तो हम इसको हराने में सफल होंगे। राजधानी भोपाल के मिंटो हॉल परिसर में मीडियाकर्मियों से बातचीत में शिवराज ने कहा कि कोरोना को हराने के लिए अकेले प्रशासन कुछ नहीं कर सकता, इसमें सबका सहयोग अनिवार्य है। सीएम ने इस दौरान एमपी की नई व्याख्या भी की। उन्होंने कहा कि मौजूदा माहौल में एमपी का मतलब है मास्क पहनो।
सीएम ने कहा कि संक्रमण रोकने का एक उपाय यह है कि टोटल लॉकडाउन लगा कर सबको घरों में बंद कर दिया जाए। दूसरा उपाय है कि सीमित लॉकडाउन लगाया जाए जिससे लोगों को रोजी-रोटी की समस्या नहीं हो। उन्होंने बताया कि लॉकडाउन अंतिम उपाय है, लेकिन संक्रमण रोकने के लिए परिस्थितियों के अनुसार इस पर भी फैसला लिया जाएगा। जिन जिलों में केस ज्यादा हैं, उनकी बुधवार शाम समीक्षा की जाएगी। क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक के बाद जरूरी हुआ तो इन जिलों में लॉकडाउन भी लगाया जा सकता है।
——–
मध्य प्रदेश के चर्चित हनी ट्रैप मामले में मंगलवार को एसटीएफ ने बड़ी कार्रवाई करते हुए एक मुख्य आरोपी युवती को गिरफ्तार कर लिया। एसटीएफ की टीम ने छतरपुर जिले के पनोठा गांव में छापा मार कर रूपा अहिरवार को गिरफ्तार किया। रूपा पिछले 3 सालों से फरार थी और उसको पकड़ने के लिए कई टीमें लगातार कोशिश कर रही थी।
पिछले 3 सालों से रूपा एसटीएफ को चकमा देकर छतरपुर जिले में अपनी फरारी काट रही थी। मंगलवार सुबह एसटीएफ की टीम रूपा के गांव पहुंची और उसे गिरफ्तार कर लिया। एसटीएफ ने रूपा के छोटे भाई को भी गिरफ्तार किया है। रूपा के घर से तीन जिंदा कारतूस, एक देसी कट्टा और कई दस्तावेज जब्त किए गए हैं।
——–
ग्वालियर शहर में ट्रैफिक जाम की समस्या कोई नई बात नहीं है। छप्पर वाले पुल पर जब ट्रैफिक जाम में खुद जिले के कप्तान अमित सांघी फंस गए तो वह गुस्से से लाल नजर आए। एसपी को पता चला कि जिस जवान की यहां ड्यूटी है, वह यहां मौजूद ही नहीं है। एसपी ने पॉइंट से गायब जवान को सस्पेंड कर दिया है।
दरअसल, छप्पर पुल इलाके में रॉन्ग साइड आ रहे वाहनों की वजह से ट्रैफिक जाम हो गया। इसी समय एसपी ग्वालियर की गाड़ी वहां से गुजरी। जब कप्तान खुद जाम में फंसे तो आम लोगों की पीड़ा समझ आई। तत्काल प्वाइंट से गायब जवान को सस्पेंड कर दिया गया है। साथ ही पुलिस अधीक्षक खुद सड़क पर अपने स्टाफ के साथ उतर आए और ट्रैफिक जाम खुलवाया। शहर में कई ऐसे प्वाइंट हैं, जहां रॉन्ग साइड आने वाले या फिर नियमों का पालन नहीं करने वाले वाहन चालकों के कारण ट्रैफिक जाम होना आम बात है।
——–
भेड़ाघाट के चौकीताल में रहने वाली वृद्धा ने सरस्वती घाट में छलांग लगा दी। यह देखते ही गोताखोरों ने आरक्षक हरिओम को सूचना दी और नदी में छलांग लगाकर वृद्धा को बाहर निकाला। इसके बाद जैसे ही महिला को घाट के पास लाए, वृद्धा ने फिर से सभी के साथ धक्कामुक्की की और छलांग लगा दी। वृद्धा ने कहा कि उसे नर्मदा जी में ठंडा होना है। यह सुनकर पुलिस समझ गई कि उसकी मानसिक स्थिति ठीक नहीं है। जिसके बाद उसके स्वजन के बारे में पतासाजी कर थाने बुलाया और वृद्धा को उनके साथ रवाना किया।
बताया जा रहा है कि चौकीताल निवासी 60 वर्षीय वृद्धा सरस्वती घाट पहुंची कुछ देर घाट किनारे खड़े होने के बाद उसने अचानक ही छलांग लगा दी। गोताखोर उसे बचाने के लिए नदी में कूदे और दुकानदारों ने आरक्षक हरिओम को सूचना दी। इसके बाद जब वृद्धा को बाहर निकालने लगे, तो उसने पानी में ही गोताखोरों को खींच लिया, लेकिन अच्छी तैराकी के कारण वह किसी तरह से वृद्धा को बाहर निकालकर ले आए।
वृद्धा को बाहर निकालने के बाद भी उसने सभी के साथ धक्का मुक्की कर दी। इसके बाद घाट किनारे महिला दुकान संचालकों को बुलाया गया और वृद्धा को पकड़कर आगे ले जाने लगे। लेकिन उन सभी की कोशिशों के बाद भी वृद्धा ने मौका मिलते ही सभी को धक्का दिया और फिर से दौड़ लगाकर नदी में छलांग लगा दी। गोताखोर फिर से नदी में कूदे और वृद्धा को बाहर निकालकर लाए।
——–
समाचारों के बीच में हम आपको यह जानकारी भी दे दें कि मौसम के अपडेट जानने के लिए समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के चेनल पर रोजाना अपलोड होने वाले वीडियो जरूर देखें। मौसम से संबंधित अपडेट मूलतः किसानों, निर्माण कार्य करवाने वालों आदि के लिए फायदेमंद साबित हो सकते हैं। समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के द्वारा अब तक मौसम के जो पूर्वानुमान जारी किए गए हैं, वे 95 से 99 फीसदी तक सही साबित हुए हैं।
——–
मध्य प्रदेश में बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए स्कूल शिक्षा विभाग ने परीक्षाओं को लेकर आदेश जारी किया है। इसमें कहा गया है कि कोरोना के केस बढ़ने की वजह से छात्रों को परीक्षा देने के लिए दो विकल्प दिए हैं। 9वीं और 11वीं की वार्षिक परीक्षाएं और 10वीं एवं 12वीं की प्री-बोर्ड परीक्षाओं के लिए दो विकल्प होंगे। इस संबंध में मध्य प्रदेश शासन स्कूल शिक्षा विभाग के उप सचिव प्रमोद सिंह ने मंगलवार देर शाम आदेश जारी कर दिए।
पहले विकल्प के रूप में परीक्षा ऑनलाइन दे सकते हैं। दूसरे विकल्प में स्टूडेंट्स को प्रश्न पत्र पर स्कूलों से वितरित होंगे। इसे छात्र घर पर हल करके आंसर शीट समय सीमा में स्कूल में जमा कराएंगे।
सरकारी स्कूल को जो निर्देश जारी हुए हैं उसके अनुसार स्टूडेंट्स को स्कूलों से प्रश्न पत्र दिया जाएगा और विद्यार्थी घर जाकर प्रश्नों को हल कर उत्तर पुस्तिका विद्यालय द्वारा निर्धारित समय सीमा में अपने विद्यालय में जमा करेंगे।
निजी स्कूल के पास दो विकल्प होंगे। निजी स्कूल विकल्प 1 या 2 में से किसी एक के अनुसार परीक्षाएं ऑनलाइन या घर से पेपर हल करा सकेंगे।
कक्षा 10वीं और 12वीं की प्रायोगिक परीक्षाएं एवं वार्षिक परीक्षा से संबंधित बोर्ड, माध्यमिक शिक्षा मंडल, सीबीएसई और आईसीएसई आदि के निर्देशों के अनुसार आयोजित की जाएंगी।
——–
मध्यप्रदेश में गर्मी से राहत मिल सकती है। मौसम विभाग ने पूर्वी मध्यप्रदेश में 9 और 10 अप्रैल को बारिश की संभावना जताई है। साथ ही राजधानी में भी गुरुवार शाम को बादल छाने का अनुमान है। मौसम वैज्ञानिक पीके साह ने बताया कि बंगाल की खाड़ी के ऊपर चक्रवात बना हुआ है। जिसके कारण प्रदेश में नमी आ रही है। उन्होंने बताया कि गुरुवार शाम को भोपाल में भी बादल छा सकते है। इसके अलावा 9 और 10 अप्रैल को जबलपुर, शहडोल, रीवा, सागर में बारिश हो सकती है। इसके बाद तापमान में मामूली गिरावट आ सकती है।
——–
आप सुन रहे थे रीना सिंह से समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया की साई न्यूज में बुधवार 07 अप्रैल 2021 का प्रादेशिक आडियो बुलेटिन। बृहस्पतिवार 08 अप्रैल 2021 को एक बार फिर हम आडियो बुलेटिन लेकर हाजिर होंगे, अगर आपको यह आडियो बुलेटिन पसंद आ रहे हों तो आप इन्हें लाईक, शेयर और सब्सक्राईब जरूर करें, सब्सक्राईब कैसे करना है यह हर वीडियो के आखिरी में हम आपको बताते ही हैं। फिलहाल इजाजत लेते हैं, नमस्कार।
(साई फीचर्स)

———