सिवनी बालाघाट मार्ग पर जल्द आरंभ होगा सेलुआ टोल नाका

डंपर यूनियन, कांग्रेस विधायक अर्जुन सिंह सहित अनेक संगठनों के विरोध के बाद दो माह पूर्व बंद हुआ था टोल नाका
(नन्द किशोर)


भोपाल (साई)। आंदोलन के बाद कुछ समय के लिए स्थगित सिवनी से बालाघाट के बीच मध्य प्रदेश सड़क विकास निगम लिमिटेड की सड़क पर सिवनी जिले में सेलुआ में टोल वूसली एक बार फिर आरंभ होने वाली है। इसकी पुष्टि एमपीआरडीसी के छिंदवाड़ा में पदस्थ महाप्रबंधक गगन भावर ने की है।


ज्ञातव्य है कि सिवनी से बालाघाट के बीच लगभग डेढ़ दशक पूर्व बिल्ट आपरेट एण्ड ट्रांसफर (बीओटी) के तहत सिवनी से बालाघाट की लगभग 90 किलोमीटर लंबी सड़क का निर्माण एमबीएल कंपनी के द्वारा कराया गया था। बीच में ही सड़क का संधारण उचित तरीके से न किए जाने पर एमबीएल कंपनी से काम वापस ले लिया गया था।


एमपीआरडीसीएल के उच्च पदस्थ सूत्रों ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया को बताया कि इसके उपरांत प्रदेश की उन जर्जर सड़कों जिन पर अगर टोल वूसली की जाती है तो उन जिलों के प्रतिनिधियों या अन्य लोगों के द्वारा किसी तरह का बवाल न हो। इसके तहत सिवनी जिला सबसे मुफीद पाया गया, और सिवनी बालाघाट मार्ग को इसमें शामिल कर लिया गया। इस फेहरिस्त में सिवनी मण्डला मार्ग को भी शामिल किया गया था किन्तु केवलारी विधायक राकेश पाल सिंह और मण्डला सांसद फग्गन सिंह कुलस्ते की तल्ख आपत्ति के बाद उस सड़क को विलोपित कर दिया गया था।


ज्ञातव्य है कि 01 अगस्त से सिवनी जिले में सेलुआ और बालाघाट जिले के गर्रा में टोल वसूली का काम आरंभ कराया गया था। इसी बीच 12 अगस्त को जिले की डंपर यूनियन के द्वारा सेलुआ टोल नाके पर पुरजोर विरोध किए जाने के बाद टोल वसूली को स्थगित कर दिया गया था। इस दौरान जिला कांग्रेस यहां तक कि बरघाट विधायक अर्जुन सिंह काकोड़िया के द्वारा भी जर्जर सड़क पर टोल वसूली का विरोध किया गया था। विरोध को देखते हुए 13 अगस्त से ही ठेकेदार अपना साजो सामान लेकर वहां से रूखसत हो गया था, किन्तु धरना प्रदर्शन 15 अगस्त तक जारी रहा।


सूत्रों ने बताया कि एक बार फिर टोल वसूली को लेकर सुगबुगाहट होने पर सिवनी, बालाघाट की डंपर यूनियन सहित कांग्रेस के नेता भी सक्रिय होते दिख रहे हैं। सभी का एक सुर से कहना है कि जब तक सड़क को मोटरेबल नहीं किया जाता तब तक टोल वसूली ओचित्यहीन ही है।

  • सिवनी बालाघाट मार्ग पर सेलुआ में टोल वसूली एक बार फिर आरंभ कराई जाएगी। इसके लिए अभी तिथि तय नहीं हुई है, पर जल्द ही तिथि तय की जाकर ठेकेदार के जरिए टोल वसूली का काम आरंभ कराया जाएगा।
    गगन भावर,
    महाप्रबंधक,
    एमपीआरडीसीएल, छिंदवाड़ा.